आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरल ने की मुख्य सचिव से मुलाकात


विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं पर किया विचार-विमर्श


लखनऊ। आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरल ने मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी से मुलाकात कर प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं पर गहन विचार विमर्श किया। आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरल ने कहा कि आस्ट्रेलिया की भारत आर्थिक रणनीति के अनुसार उत्तर प्रदेश प्राथमिकता वाले राज्यों में है। विशेष रूप से बुनियादी ढांचे, अवस्थापना सुविधाओं के विकास, शिक्षा और कृषि प्रमुख क्षेत्र हैं। 

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने के लिये प्रदेश सरकार निवेशकों को कई प्रकार की सहूलियतें दे रही हैं। ईज आफ डुइंग बिजनेस में प्रदेश ने लम्बी छलांग लगाई है तथा पूरे देश में दूसरे स्थान पर है। प्रदेश में कई एक्सप्रेसवेज हैं तथा कई अन्य पर तेजी से काम चल रहा है। डिफेन्स काॅरीडोर के अंतर्गत प्रदेश में 06 नोड स्थापित किये गये हैं, जिन पर रक्षा उत्पादों से संबंधित उद्योगों के लिए भूमि व अन्य जरूरी संसाधन उपलब्ध कराये जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में निवेश के लिये प्रचुर मात्रा में सभी जरूरी इन्फ्रास्ट्रक्चर, भूमि, बिजली, पानी, स्किल्ड मैनपाॅवर आदि उपलब्ध हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास के लिए भी प्रदेश में बड़े पैमाने पर कार्य किये गये हैं। मेडिकल काॅलेजों का निर्माण एवं सुपर स्पेशियलिटी हाॅस्पीटल्स की स्थापना आदि के कार्य तेजी से चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण, परिवहन, कृषि, शोध, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, शिक्षा, सहकारिता, लाॅजिस्ट्क्सि एवं वेयरहाउसिंग जैसे क्षेत्रों में निवेश के लिए प्रचुर संभावनायें हैं।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण को रोकने में प्रदेश सरकार ने सराहनीय कार्य किये हैं। चिकित्सा सुविधाओं का बड़े पैमाने पर विकास किया गया है। टेस्टिंग क्षमता करीब 02 लाख प्रतिदिन हो गई है तथा सभी जनपदों में आई0सी0यू0 एवं वेंटीलेटर्स की सुविधा उपलब्ध है। कोविड-19 के वैक्सीनेशन का कार्य भी प्रदेश में सुचारु रूप से चल रहा है। 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top