मुख्यमंत्री ने बहराइच में महाराजा सुहेलदेव स्मारक एवं चित्तौरा झील की विकास योजना का भूमि पूजन किया


मुख्यमंत्री ने 11वीं शताब्दी के प्रतापी शासक और पराक्रमीयोद्धा महाराजा सुहेलदेव की जयन्ती समारोह के अवसर पर चित्तौरा, उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि
दी


लखनऊ | उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज जनपद बहराइच में महाराजा सुहेलदेव स्मारक एवं चित्तौरा झील की विकास योजना के शिलान्यास तथा महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय के लोकार्पण समारोह में सम्मिलित हुए। ज्ञातव्य है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इन परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया गया।
    मुख्यमंत्री ने 11वीं शताब्दी के प्रतापी शासक और पराक्रमी योद्धा महाराजा सुहेलदेव की जयन्ती समारोह के अवसर पर चित्तौरा, बहराइच में उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
    मुख्यमंत्री ने स्मारक स्थल परिसर में मौलश्री पौधे का रोपण कर श्रीराम मन्दिर की थीम पर बनायी गयी आकर्षक रंगोली का भी अवलोकन किया। मुख्यमंत्री ने विधि विधान के साथ महाराजा सुहेलदेव स्मारक एवं चित्तौरा झील की विकास योजना का भूमि पूजन किया। इसके बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वर्चुअल माध्यम से महाराजा सुहेलदेव स्मारक एवं चित्तौरा झील की विकास योजना का शिलान्यास एवं महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय, बहराइच का लोकार्पण किया गया।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के तराई क्षेत्र की जनता को प्रधानमंत्री का आशीर्वाद प्राप्त हो रहा है। प्रधानमंत्री का स्वागत एवं अभिनन्दन करते हुए उन्होंने कहा कि आज का दिन पावन और इस क्षेत्र के लिए महत्वपूर्ण है। भारतवर्ष के इतिहास में 11वीं सदी में उत्तर प्रदेश के बहराइच में महाराजा सुहेलदेव पराक्रमी और प्रतापी राजा थे, जिन्होंने विदेशी आक्रांताओं से भारतीय संस्कृति और विरासत की रक्षा की। वे मातृभूमि के सम्मान को समर्पित रहे। उनका शौर्य, पराक्रम और स्वाभिमान वर्तमान पीढ़ी के लिए एक गौरवशाली उदाहरण है। उन्होंने विदेशी आक्रांताओं से मुकाबला करने के लिए 21 राज्यों का संगठन बनाकर कुशल रणनीतिकार के रूप में विशिष्ट युद्धकला के माध्यम से विजय प्राप्त की थी।
   मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। जब 1012 वर्ष पूर्व विदेशी आक्रांताओं से धर्म की रक्षा करने वाले शौर्य वीर महाराजा सुहेलदेव जी के स्मारक का देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शिलान्यास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बहराइच के मेडिकल कॉलेज का नाम भी महाराजा सुहेलदेव जी के नाम पर रखा गया है। साथ ही, इस क्षेत्र के महर्षि बालार्क के नाम पर बहराइच जिला चिकित्सालय का भी नामकरण किया गया है। उन्होंने कहा कि चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में शहीद स्मारकों व स्थलों पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर देश के ज्ञात-अज्ञात सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किये जा रहे हैं। स्मारक स्थल का निर्माण व अन्य सुविधाओं का विकास प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से किया जा रहा है। इससे पूर्व, वर्ष 2018 में महाराजा सुहेलदेव जी के नाम से गाजीपुर में प्रधानमंत्री जी द्वारा डाक टिकट जारी किया गया था। मुख्यमंत्री ने स्मारक के शिलान्यास व मेडिकल कॉलेज के लोकार्पण के लिए प्रधानमंत्री जी के प्रति आभार व्यक्त किया।
  मुख्यमंत्री ने ‘मा0 मुख्यमंत्री निराश्रित/बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना’ के तहत श्री हरिकेश राजभर को प्रमाण पत्र, आजीविका एक्सप्रेस के अन्तर्गत गांधी स्वयं सहायता समूह बभनीसैदा रिसिया की सुश्री रीना देवी, हजरत स्वयं सहायता समूह बलभ्रदपुर रिसिया की सुश्री गीता व आयशा स्वयं सहायता समूह की सुश्री आयशा खातून को वाहन की चाभी, जय मां संतोषी स्वयं सहायता समूह नगरौर की सुश्री वंदना ढूसियां को स्टार्टअप का चेक, खुशी अजीविका सहायता समूह मछियाही चित्तौरा की सुश्री नीरज कुमारी को कोटे की दुकान के संचालन, बालाजी स्वयं सहायता समूह रायपुर चित्तौरा की सुश्री सुनीता को सामुदायिक शौचालय संचालन का प्रमाण पत्र, ग्राम समसा तरहर चित्तौरा की सुश्री शीशम देवी को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), ग्राम खलिलपुर चित्तौरा की सुश्री राजेश्वरी को मुख्यमंत्री आवास योजना व मोहल्ला हमजापुर की सुश्री कामिनी वर्मा को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) का प्रमाण पत्र तथा ग्राम चित्तौरा की सुश्री मीना आर्या को ‘आयुष्मान भारत योजना’ का प्रमाण पत्र वितरित किया। कार्यक्रम के दौरान थारू जन-जाति के कलाकारों द्वारा महाराजा सुहेलदेव जी के जीवन पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया।
जनपद भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री जी ने उ0प्र0 राज्य ललित कला अकादमी द्वारा नगर पालिका परिषद, बहराइच में आयोजित तीन दिवसीय चित्रकार शिविर में महाराजा सुहेलदेव जी की जीवन गाथा, शौर्य एवं राष्ट्रीयता आधारित चित्रों, ‘एक जनपद, एक उत्पाद’, बच्चों की पेंटिंग, पर्यटन, इण्डियन पोस्टल व महाराजा सुहेलदेव स्थल के विकास से सम्बन्धित मॉडल पर लगायी गयी प्रदर्शनी का उद्घाटन कर अवलोकन किया।
     कार्यक्रम को प्रदेश के दिव्यांगजन सशक्तिकरण मंत्री श्री अनिल राजभर, सहकारिता मंत्री श्री मुकुट बिहारी वर्मा, पर्यटन, धर्मार्थ कार्य, संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी, विधान परिषद सदस्य श्री स्वतंत्र देव सिंह आदि ने भी सम्बोधित किया।
      इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, महाराजा सुहेलदेव स्मृति न्यास बहराइच के उपाध्यक्ष श्री यशवेंद्र विक्रम सिंह, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, विभिन्न योजनाओं के लाभार्थी, एन0सी0सी0 के कैडेट, छात्र-छात्राएं व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top