24 विभागों के डिप्लोमा अभियन्ता 2 मार्च से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जायेंगे


10422231_688403841262700_21259362133555335_n
24 विभागों के 24000 डिप्लोमा अभियन्ता अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए विवश
लखनऊ: । सरकार की वादा खिलाफी और डिप्लोमा इंजीनियर्स की उपेक्षा से नाराज उ0प्र0 डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ से सम्बद्ध समस्त राजकीय, निगम, निकाय, प्राधिकरण, स्थानीय निकाय, तकनीकी शैक्षणिक संस्थानों आदि विभागों के 24 घटक संघों के डिप्लोमा अभियन्ताओं ने 18 फरवरी से 01 मार्च 2016 तक विभिन्न ध्यानाकर्षण कार्यक्रमों के माध्यम से शासन द्वारा गठित उच्च स्तरीय समिति की संस्तुति अनुरूप जूनियर इंजीनियर्स की वेतन विसंगति दूर करते हुए रू0 4800 वेतन ग्रेड देने की माँग कर रहा है। अनेकों ध्यानाकर्षण कार्यक्रमों, विभिन्न स्तरों पर भेंट वार्ताओं आदि के माध्यम से अथक प्रयास के बाद भी सुनवायी न होने से आक्रोशित संवर्ग पूर्व नोटिस के अनुसार 2 मार्च 2016 से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने को बाध्य है।
डिप्लोमा इंजीनियर्स की समस्याओं के समाधान हेतु मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन द्वारा प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग की अध्यक्षता गठित समिति द्वारा माँगों को जायज मानते हुए अपनी संस्तुति दी। उच्च स्तरीय समिति की संस्तुति मार्च 2015 से लम्बित है, उन संस्तुतियों को लागू कराने हेतु ही डिप्लोमा इंजीनियर्स संघर्षरत है। जूनियर इंजीनियर्स के वेतनमान की विसंगति को दूर कर प्रारम्भिक वेतनमान पीबी-2 वेतन बैण्ड 9300-34800, वेतन ग्रेड रूपये 4800/- प्रदान करते हुए इस संवर्ग को राजपत्रित घोषित किया जाए। जूनियर इंजीनियर्स को सेवा प्राविधानित अवधि 07 वर्ष, 14 वर्ष और 20 वर्ष की सेवा क्रमशः सहायक अभियन्ता, अधिशासी अभियन्ता व अधीक्षण अभियन्ता पदों पर तीन पदोन्नति वेतनमान दिये जाए। निगमों में कराये जाने वाले कार्यों के विरूद्ध देय सेन्टेज का भुगतान कराया जाए अन्यथा अन्य प्रदेशों की भांति कार्मिकों के वेतन भत्ते का भुगतान राजकीय कोष से किया जाय तथा छठे वेतन आयोग के एरियर का भुगतान भी कराया जाए।
उ0प्र0 डिप्लेामा इंजीनियर्स महासंघ लगातार  मुख्यमंत्री/मुख्य सचिव स्तर पर वार्ता की माँग कर रहा है। तमाम प्रतिकूल परिस्थितियों में भी 24 घण्टे की सेवाएं देते हुए शासन और सरकार की महत्वाकंाक्षी योजनाओं को धरातल पर उतारने का कार्य यही संवर्ग करता है। अनेकों संवर्ग जिनका वेतनमान जूनियर इंजीनियर्स से कम या बराबर था उसमें वृद्धि करते हुए उन्हें अधिक वेतनमान प्रदान कर दिया गया लेकिन जूनियर इंजीनियर्स संवर्ग की लगातार उपेक्षा की जा रही है, जिससे डिप्लोमा इंजीनियर्स संवर्ग में घोर आक्रोश व्याप्त है। सरकार का सकारात्मक रूख न मिलने के कारण महासंघ के पास हड़ताल के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं बचा है,। उ0प्र0 डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ द्वारा घोषित संघर्ष कार्यक्रम के क्रम में प्रदेश के समस्त जनपदीय मुख्यालयों पर डिप्लोमा इंजीनियर्स का कार्य बहिष्कार का कार्यक्रम पूर्ण रूपेण सफल रहा। सभी जनपदों में डिप्लोमा इंजीनियर्स द्वारा माप पुस्तिकाऐं, कार्यादेश पुस्तिका आदि शासकीय अभिलेख शत प्रतिशत जमा करा कर हड़ताल की पूर्ण तैयारी कर ली गयी है। परिणाम स्वरूप समस्त विभागों में कामकाज ठप्प और विकास कार्य अवरूद्ध हो जायेगा। प्रदेश के समस्त सदस्यों द्वारा हड़ताल पर जाने हेतु हड़ताल घोषणा पत्र भर कर सम्बन्धित कार्यालयाध्यक्षों को सुचित किया जा चुका है। प्रेस वार्ता में उपस्थित पदाधिकारियों ने अवगत कराया कि विगत 18 जनवरी से 28 जनवरी तक जन जागरण तथा 4 व 5 फरवरी को जनपद मुख्यालयों पर धरना व मा0 मुख्यमंत्री जी को ज्ञापन प्रेषण तत्पश्चात लक्ष्मण मेला मैदान लखनऊ में 15-17 फरवरी तक क्रमिक अनशन का ध्यानाकर्षण कार्यक्रम किया गया था, फिर भी माँगे न माने जाने पर 18 फरवरी से 1 मार्च 2016 तक कार्य बहिष्कार किया गया। आज तक कोई भी  सकारात्मक निर्णय न होने की दशा में 02 मार्च 2016 से समस्त डिप्लोमा इंजीनियर्स (जूनियर इंजीनियर्स एवं प्रोन्नत सहायक अभियन्ता) हड़ताल पर चले जायेंगे। आवश्यक सेवायें (राज्य विद्युत परिषद) 72 घण्टे बाद हड़ताल पर जायेंगे।
प्रेस वार्ता के दौरान इं0 हरि किशोर तिवारी अध्यक्ष लोक निर्माण विभाग, इं0 ओ0पी0 राय महासचिव सिंचाई सिविल, इं0 आर0के0 सचान चेयरमैन संघर्ष समिति, इं0 एस0डी0 द्विवेदी महामंत्री राजकीय निर्माण निगम लि0, इं0 जी0बी0 पटेल वरिष्ठ उपाध्यक्ष, इं0 वरिन्दर शर्मा महासचिव राज्य विद्युत परिषद, इं0 सुभाष चन्द्र श्रीवास्तव अध्यक्ष लघु सिंचाई, इं0 उदयभान मल्ल महासचिव लघु सिंचाई, इं0 श्रीप्रकाश गुप्ता अध्यक्ष सेतु निगम, इं0 एच0एन0 मिश्र सह चेयरमैन संघर्ष समिति, इं0 राकेश त्यागी उपमहासचिव (पश्चिम), इं0 धर्मेन्द्र प्रकाश महासचिव ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, इं0 गजेन्द्र कुमार महासचिव वि0याँ0 सिंचाई, इं0 आर0पी0 गुप्ता महामंत्री जल निगम, इं0 राजीव श्रीवास्तव महासचिव आवास विकास परिषद, इं0 आर0बी0 मिश्रा अध्यक्ष यूपीपीसीएल इं0 कमलेश्वर तिवारी अध्यक्ष आवास विकास, इं0 श्याम राज ंिसंह अध्यक्ष कृषि विभाग, इं0 कुमदेश शर्मा विकास प्राधिकरण, इं0 सतीश कुमार महासचिव मण्डी परिषद, इं0 एल0बी0 सिंह अध्यक्ष परिवहन विभाग, इं0 सर्वेश शुक्ला अध्यक्ष हथकरघा, इं0 अजय कुमार अध्यक्ष जिला पंचायत, इं0 टी0एन0 मिश्र यूपीएसआईडीसी आदि घटक संघों के समस्त पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top