भाजपा सरकार की दोषपूर्ण नीतियों से समाज का प्रत्येक वर्ग हताश और तबाह —-अखिलेश यादव


 

 

लखनऊ | समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि जैसे-जैसे चुनाव निकट आ रहा है, उत्तर प्रदेश में अराजकता चरम पर है। भाजपाई कानून की धज्जियां सरेआम उड़ाना अपना अधिकार समझते हैं। ऐसी अनेक शिकायतें पिछले दिनों निर्वाचन आयोग से समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल श्री अहमद हसन, राजेन्द्र चौधरी, इन्द्रजीत सरोज एवं अरविन्द कुमार सिंह ने भेंट कर की है।

श्री यादव ने कहा कि लोकतंत्र भरोसे और विश्वास से चलता है। जनता की आकांक्षाओं से पूरा करना जनमत द्वारा निर्वाचित सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए। लेकिन केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार ने जनता को धोखा देने का काम किया है। पांच वर्ष के कार्यकाल के दौरान भाजपा ने जनता को सिर्फ बुरे दिनों से ही डराया है। भाजपा सरकार की दोषपूर्ण नीतियों से समाज का प्रत्येक वर्ग हताश और तबाह है। श्री अखिलेश यादव ने कहा कि छात्रों-नौजवानों के सामने बेरोजगारी का संकट लगातार बढ़ रहा है। भाजपा सरकार ने युवा पीढ़ी के सपनों को चकनाचूर कर दिया। रोजगार के सवाल पर भाजपा सरकार की चुप्पी से युवा वर्ग आक्रोशित है। महिलाओं पर बढ़ते हमलों ने लोकतंत्र की गरिमा को तार-तार किया है। अन्नदाता को चुनाव के पहले छला है जबकि किसानों की मांग न्यूनतम समर्थन मूल्य की बढ़ोत्तरी अभी तक नहीं हुई है और खाद-बीज-पानी की उपलब्धता में कमी है। राज्य सरकार ने गन्ना किसानों का बकाया भुगतान भी नहीं किया है। जिससे भाजपा सरकार की किसानों के प्रति संवेदनहीनता उजागर हो गयी है।

श्री यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव करीब होते देख भाजपा ने जनता को गुमराह करना शुरू कर दिया है। भाजपा की मोटर साइकिल रैली बूथों पर कब्जे की तैयारी के मुकाबले के लिये ‘‘समाजवादी बूथ रक्षक‘‘ सक्रिय रहेंगे। बूथ से ही लोकतंत्र और लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा हो सकती है। समाजवादी पार्टी सामाजिक न्याय के एजेंडे पर काम करती है। समाज के वंचित तबके को प्रतिनिधित्व और अधिकार दिलाने के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता जी-जान से जुटे हैं।

श्री अखिलेश यादव ने कहा कि अब समय आ गया है कि जनहित के मुद्दों के आधार पर जनता को मतदान के लिये जागरूक किया जाये। अच्छे दिनों के नाम पर देश की जनता को त्रस्त करने वाली सरकार से मुक्ति जरूरी है। देश में संवैधानिक संस्थाओं की विश्वसनीयता की बहाली लोकतंत्र में जनता के अधिकार की सुरक्षा के लिये भाजपा को सबक सिखाने के मुद्दे पर जनता एकमत है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top