गडकरी ने अयोध्या में 3799 करोड़ की पांच बड़ी परियोजनाओं की आधारशिला रखी


 
  lucknow |    केंद्रीय परिवहन व जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने अयोध्या में प्रभु श्री राम शपथ लेते हुए कहा कि मार्च 2020 तक 100 प्रतिशत गंगा निर्मल व अविरल हो जाएगी। सभी लोग गिलास लेकर जाएंगे और पानी पी सकेंगे। उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने जबसे गंगा की निर्मलता का दायित्व सौंपा है, तबसे कुल 261 परियोजनाओं में 131 पर एसटीपी में काम चल रहा है। 30 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। 85 घाट, 65 मोक्ष घाट पर काम हो रहा है।

नितिन गडकरी ने अयोध्या में शुक्रवार को कुल 3799 करोड़ की पांच बड़ी परियोजनाओं की बटन दबाकर आधारशिला रखी। बाद में कहा कि लखनऊ-अयोध्या मार्ग के अयोध्या क्षेत्र का सौंदर्यीकरण 55 करोड़ से होगा। अयोध्या-वाराणसी मार्ग के अकबरपुर खंड कुल 49 किमी फोर लेन सड़क निर्माण 1081 करोड़ से होगा। 46 किमी चार लेन अयोध्या रिंग रोड का निर्माण 1289 करोड़ से होगा, इससे जहां जाम से मुक्ति मिलेगी, वहीं शहर का विस्तार होगा। 262 किमी लंबे रामवनगमन मार्ग के मोहनगंज से श्रृंगवेरपुर खंड का निर्माण 478 करोड़ से होगा। साथ ही 275 किमी के 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के 91 किमी बीकापुर-रुदौली-मूर्तिहनघाट तक का निर्माण 896 करोड़ की लागत से होगा। गडकरी ने कहा यह सब काम एक दो माह में शुरू हो जाएंगे।

भारत सरकार के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, पोत परिवहन, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी शुक्रवार को तय समय से ढाई घंटे विलंब से राजकीय इंटर कॉलेज मैदान पर पहुंचे। सबसे पहले देरी के लिए क्षमा मांगी तो भीड़ तालियों की गड़गड़ाहट से अभिभूत भी नजर आए।

उन्होंने कहा कि अब सरयू में गंगा के रास्ते कोलकाता तक जलमार्ग विकसित होगा। यह काम अयोध्या से बस्ती तक शुरू हो गया है। अयोध्या में वाटर वे टर्मिनल बनेगा। अगली बार प्रभु राम की कृपा से सरयू पर हवाई जहाज उतरेंगे। उन्होंने सरयू को प्रदूषित कर रहे पांच नालों का जिक्र करते हुए एसटीपी लगाने के लिए 40 करोड़ रुपये देने का एलान किया। इसके अलावा बस्ती के छावनी से रामपुर तक 90 किमी और मकरापुर से गोंडा तक 70 किमी फोर लेन सड़क बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि इसकी मंजूरी अभी मंच पर ही दी गई है।

गडकरी ने कहा कि यह प्रभु श्री रामचंद्र की जन्मभूमि है, इस भूमि पर पिछली बार जो मैने कहा था उसे अब पूरा करने का सौभाग्य मिला है। पहले नदी विकास व गंगा संरक्षण मेरे पास नहीं था, लेकिन यह विभाग आने के बाद सांसद लल्लू सिंह ने मांग रखी थी कि नालों के गंदे जल से सरयू प्रदूषित हो रही है। इसके लिए नालों पर एसटीपी व डायवर्जन के लिए नमामि गंगे परियोजना से 40 करोड़ की स्वीकृति दी गई है। पांच नाले गोला घाट ए, गोला बी, ऋणमोचन नाला, गुप्तारघाट नाला, रामघाट नाला से प्रदूषित जल सरयू में गिरने की पुष्टि हुई। नमामि गंगे परियोजना से 5 एमएलडी की एसटीपी लगाकर प्रदूषित जल रोका जाएगा।

इसकी क्षमता 12 एमएलडी करने का कार्य भी इसी सत्र में होगा। इसमें राजघाट नाले का उन्नयन भी होगा। दो और परियोजनाओं की मंजूरी मंच से हमने दी है। इसमें बस्ती जिले के छावनी से रामपुर तक 90 किमी फोर लेन सड़क, जिसकी लागत 505 करोड़ रुपये होगी। जबकि मनकापुर से गोंडा तक 70 किमी फोर लेन सड़क बनाई जाएगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top