जीडीए वीसी कृष्णा करूणेष के कड़े कदम से अधिकारियों और अभियंताओं में खलबली


अवैध निर्माण को संरक्षण देने पर जोन 8 के अधिशासी अभियंता, एई व जेई और सुपरवाइजरों तक को हटा कर आफिस से अटैच किया

लखनऊ। जीडीए वीसी कृष्णा करूणेष के कड़े कदम से अधिकारियों और अभियंताओं में खलबली मच गई है । जीडीए में काफी समय बाद किसी नये वीसी ने आते ही इस तरह की हिम्मत भरी कारवाई की है । साहिबाबाद क्षेत्र में शपथ पत्र में रिश्वतखोरी कर अवैध निर्माण को संरक्षण देने पर जोन 8 के अधिशासी अभियंता, एई व जेई और सुपरवाइजरों तक को हटा कर आफिस से अटैच कर दिया गया है । इतना ही नहीं कुछ के निलंबन की भी कार्रवाई हो सकती है ।

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण में अवैध निर्माण को लेकर सख्ती शुरू होने के चिन्ह नजर आने लगे हैं। नए उपाध्यक्ष के आने से प्रवर्तन अधिकारियों व अभियंताओं में बेचैनी का माहौल है। सूत्रों के अनुसार अभियंता अपना प्रवर्तन से अन्यत्र ट्रांसफर कराने की जुगत भिढ़ाने लगे हैं तो अधिकारी अपना कार्यभार प्रवर्तन से इतर कराने की सोचने लगे हैं। नई घटना से तो उनमें खौफ पैदा हो गया है कि कहीं सर्विस बुक पर दाग न लग जाए।
आपको बता दें कि विक्रम एनक्लेव के ए- 133 प्लाट पर हो रहे अवैध निर्माण के संबंध में एक शपथपत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। जिसमें जीडीए इंजीनियरों/ अधिकारियों को दिए जाने वाली भारी भरकम रिश्वत का उल्लेख किया गया था। उसके बाद जब यह सूचना नव तैनात उपाध्यक्ष के पास पहुंची तो उन्होंने तत्काल प्रवर्तन आठ के प्रभारी मानवेंद्र सिंह को हटा दिया तथा कार्यालय से अटैच कर दिया साथ ही उनके नीचे स्थित प्रवर्तन में तैनात सहायक अभियंता,अवर अभियंता व सुपरवाइजर को भी कार्यालय से अटैच कर दिया। यह अपने में एक बहुत बड़ा साहसिक कदम माना जा रहा है |

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण में बहुत से उपाध्यक्ष आए चले गए लेकिन मात्र उंगलियों पर ही गिने जाने वाले अफसरों ने ही अपनी साहसिक क्षमता का प्रदर्शन किया है । उपाध्यक्ष द्वारा शनिवार को पूरे कार्यालय का लिफ्ट का प्रयोग ना कर जीना चढ कर दौरा किया गया जबकि पूर्व के उपाध्यक्ष अपने ए सी कार्यालय से बाहर ही नहीं निकल पाते थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top