सर्वजन हिताय संरक्षण समिति के स्थापना दिवस पर पदोन्नति में आरक्षण लागू करने की नीति के विरोध में लिया गया संकल्प


WhatsApp Image 2019-01-16 at 6.00.01 PM

 

: समिति ने मनाया 09वां स्थापना दिवस:

lucknow | सर्वजन हिताय संरक्षण समिति, उप्र ने आज अपना 09वां स्थापना दिवस मनाते हुए पदोन्नति में आरक्षण के विरोध में अपना संकल्प दोहराया। समिति का स्थापना दिवस राणा प्रताप मार्ग स्थित हाईडिल फील्ड हाॅस्टल में मनाया गया। इस अवसर पर केन्द्र सरकार की पदोन्नति में आरक्षण लागू करने की नीति और नीयत की आलोचना की गयी और संकल्प लिया गया कि पदोन्नति में आरक्षण को असंवैधानिक करार देने के मा. सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय को किसी भी परिस्थिति में निष्प्रभावी नहीं होने दिया जायेगा।

समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि केन्द्र सरकार की पहल पर मा. सर्वोच्च न्यायालय की संविधान पीठ ने एम नागराज मामले के 2006 के निर्णय पर पुनर्विचार की अपील को विगत सितम्बर माह में ठुकरा दिया है। संविधान पीठ ने केन्द्र सरकार की अपील को ठुकराते हुए अनुसूचित जाति/जनजाति को पदोन्नति में आरक्षण देने के मामले में क्रीमी लेयर की बाध्यता भी लगा दी है। ऐसे में पदोन्नति में आरक्षण लागू करने की किसी भी कोशिश का पुरजोर विरोध किया जायेगा।

समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि मा. सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के अनुसार प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग में अनुसूचित जाति/जनजाति के पदोन्नति में आरक्षण का लाभ पाकर पदोन्नति पाये जूनियर शिक्षकों को अभी भी पदावनत नहीं किया गया है जिससे सामान्य व अन्य पिछड़ी जाति के वरिष्ठ शिक्षकों में भारी रोष व्याप्त है। समिति ने मांग की कि मा. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार ऐसे सभी शिक्षकों को तत्काल पदावनत किया जाये जिससे सामान्य व अन्य पिछड़ी जाति के वरिष्ठ शिक्षकों को पदोन्नति मिल सके और उनके साथ न्याय हो सके।

समिति ने स्थापना दिवस सभा में यह भी निर्णय लिया कि आगामी लोकसभा चुनाव के पहले भारतीय जनता पार्टी व कांग्रेस सहित सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को पत्र लिखकर यह अनुरोध किया जायेगा कि वे अपने घोषणा पत्र में इस बावत स्पष्ट लिखें कि वे पदोन्नति में आरक्षण के पक्ष में हैं या मा. सर्वाेच्च न्यायालय के पदोन्नति को असंवैधानिक करार देने के निर्णय के पक्ष में हैं। समिति ने इस मामले को चुनाव में मुद्दा बनाने का निर्णय लिया है।

समिति की आज यहां हुई सभा में मुख्यतया समिति के अध्यक्ष शैलेन्द्र दुबे व अन्य मुख्य पदाधिकारी ए ए फारूकी, एच एन पाण्डेय, राजीव सिंह, एस एस निरंजन, अमर कुमार, रीना त्रिपाठी, सुमन दुबे, राजीव श्रीवास्तव, पवन सिंह, देवेन्द्र द्विवेदी, आर बी एल यादव, आर के पाण्डेय, अजय द्विवेदी, कायम रजा रिजवी, पी के सिंह, शिव प्रकाश दीक्षित, वाई एन उपाध्याय, राजेश अवस्थी, नूर आलम मुख्यतया उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top