PM के चुनाव क्षेत्र में कल जुटेगें देशभर के बिजली इन्जीनियर, बिजली सेक्टर एवं कर्मियों से जुडें मामले राजनीतिक दलों के घोषणा पत्र में लाने हेतु तय होगी कार्य योजना


lucknow |   वाराणसी में आल इण्डिया पावर इन्जीनियर्स फेडरेशन की राष्ट्रीयकार्य समिति की 07 अप्रैल को बैठक बुलाई गयी है। फेडरल इक्जिक्यूटिव कीबैठक मंें देश के लगभग 20 प्रान्तों के बिजली अभियन्ता संघों के अध्यक्षएवं महामंत्री सम्मिलित होंगें। बैठक में बिजली सेक्टर एवं बिजलीकर्मियों से जुडें मामले राजनीतिक दलों के घोषणा पत्र में लाये जाने हेतुकार्य योजना तय की जायेगी।
आॅल इण्डिया पावर इन्जीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेन्द्र दुबेने आज यहा बताया कि फेडरेशन की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठकप्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में इस उदद्ेश्य से बुलाई गयीहै कि बिजली सेक्टर एवं बिजली कर्मचारियों व अभियंताओं से जुडेमहत्वपूर्ण राष्ट्रीय हित के सवालों को लोकसभा के चुनाव के पहलेप्रधानमंत्री और अन्य प्रमुख राजनीतिक दलों के संज्ञान में लाया जा सकें।

उन्हौने बताया कि इस बाबत फेडरेशन, भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह, कागे्रेसअध्यक्ष, राहुल गाॅधी और अन्य प्रमुख राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को पहलेही पत्र भेजकर मांग कर चुकी है कि ऊर्जा क्षेत्र व कर्मचारियों से जुडें मामलों को वे अपने घोषणा पत्र में सम्मिलित करें।
उन्हौंने बताया कि पावर इन्जीनियर्स फेडरेशन की मुख्य मांग है किबिजली निगमों का एकीकरण कर राज्य विद्युत परिषद निगम लि0, कीपुनस्र्थापना की जाये, इलेक्ट्रिसीटी एक्ट 2003 की पुनर्समीक्षा की जायेव बिजली के निजीकरण की नीति पूरी तरह समाप्त की जाये,सभी बिजलीकर्मचारियों के लिए पुरानी पेन्शन प्रणाली बहाल की जाये और संविदा
कर्मियों को नियमित किया जाये।
उन्हौने बताया कि आॅल इण्डिया पावर इन्जीनियर्स फेडरेशन कीराष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक डी0एल0डब्लू, ककरमत्ता स्थित मधुबन पैलेस,होटल के सभागार में आयोजित की गयी है। बैठक का खुला सत्र प्रातः 10ः00बजे प्रारम्भ होगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top