कमिश्नर व वीसी ने बजट होटल और सी0जी0 सिटी का निरीक्षण किया



लखनऊ | लखनऊ विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष/कमिश्नर रंजन कुमार व उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बुधवार को विक्रान्त खण्ड स्थित बजट होटल/बस अड्डे और सी0जी0 सिटी योजना का निरीक्षण किया। इस दौरान प्राधिकरण के सचिव पवन कुमार गंगवार और मुख्य अभियन्ता इन्दु शेखर सिंह समेत अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे।

मुख्य अभियन्ता इन्दु शेखर सिंह ने बताया कि अध्यक्ष व उपाध्यक्ष द्वारा सर्वप्रथम बजट होटल/बस अड्डे का निरीक्षण किया गया। इस दौरान उन्हें अवगत कराया गया कि इस प्रोजेक्ट का निर्माण वर्ष 2013 में प्रारम्भ कराया गया, जिसे 14.07.2020 को पूर्ण करा दिया गया है। भूतल पर बस अड्डे का निर्माण/विकास कार्य पूर्ण होने के उपरान्त इसे उ0प्र0 परिवहन निगम को हैण्डओवर कर दिया गया है। वहीं, बजट होटल को लीज पर दिये जाने की कार्यवाही प्रस्तावित है। इसके उपरान्त उनके द्वारा सी0जी0 सिटी योजना के अन्तर्गत निर्मित 19 एम0एल0डी0 एस0टी0पी0 का निरीक्षण किया गया। इसमें उन्हें अवगत कराया गया कि एस0टी0पी0 का निर्माण 67.46 करोड़ रूपये की लागत से कराया गया है, जबकि स्थल विकास कार्य एवं 5 एम0एल0डी0 राॅ सीवेज सम्पवेल 4.78 करोड़ रूपये से कराया गया है। एस0टी0पी0 प्लान्ट का निर्माण कार्य पूर्ण है, किन्तु सीवर न होने के कारण संचालित नहीं है। एस0टी0पी0 प्लान्ट का निरीक्षण राष्ट्रीय हरित अधिकरण द्वारा गठित उ0प्र0 साॅलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट कमेटी के अध्यक्ष द्वारा निरीक्षण किया जा चुका है और उनके द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में प्लान्ट की की जा चुकी है।

उन्होंने बताया कि सेक्टर-7 में बहुखण्डीय आवास, डायॅल 100, पुलिस मुख्यालय, सूडा आदि की सीवर की समस्या को दूर किये जाने हेतु 5 एम0एल0डी0 सम्पवेल का निर्माण किया गया है। उक्त सम्पवेल में एकत्रित सीवरेज को सी0जी0 सिटी योजना के अंतर्गत निर्मित 19 एम0एल0डी0 एस0टी0पी0 के द्वारा ट्रीट किया जायेगा। इस दौरान अध्यक्ष द्वारा यह निर्देश दिये गये कि एस0टी0पी0 से ट्रीटेड वाटर को योजना के पार्को के उपयोग में लाया जाये। इस क्रम में उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि सी0जी0 सिटी योजना में ट्रीटेड वाटर के उपयोग हेतु पूरे योजना में पानी की लाईन डाली गयी है।

निरीक्षण के क्रम में अध्यक्ष रंजन कुमार द्वारा मुख्य अभियन्ता कार्यालय से सम्बन्धित निर्माण एवं विकास कार्यों की जानकारी प्राप्त की गयी व निर्माण/विकास कार्यों की प्रगति बढ़ाकर निर्धारित समयावधि के अन्तर्गत पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये गये। उन्होंने ल0वि0प्रा0 द्वारा विभिन्न एजेन्सियों से निर्माण/विकास कार्यों हेतु गठित किये जाने वाले अनुबंधों के विवरण से सम्बन्धित रजिस्टर का भी अवलोकन किया तथा वर्षवार कुल गठित अनुबंधों की संख्या से अवगत कराये जाने के निर्देश दिये।


Scroll To Top
Translate »