लखनऊ तथा गाजियाबाद में 48 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित होंगे फ्लैटेड फैक्ट्री कॉम्पलेक्स


डा0 नवनीत सहगल की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की आठवीं बैठक

 एटा औद्योगिक क्षेत्र के उन्नयन हेतु 823 लाख रुपये का प्रस्ताव अनुमोदित

लखनऊ | अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम डा0 नवनीत सहगल की अध्यक्षता में आज लोक भवन मंे आयोजित राज्य स्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की आठवीं बैठक में लखनऊ तथा गाजियाबाद जनपद में 48 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित होने वाले फ्लैटेड फैक्ट्री काम्पलेक्स के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। इसके अलावा बैठक में जनपद एटा औद्योगिक क्षेत्र के उन्नयन हेतु 823 लाख रुपये के प्रस्ताव को भी अनुमोदित किया गया। इन परियोजनाओं के प्रस्ताव को अंतिम स्वीकृति हेतु भारत सरकार को भेजा जायेगा। इसके अतिरिक्त संभल, मुरादाबाद एवं बदायूं में फ्लैटेड फैक्ट्री काम्पलेक्स की स्थापना का प्रस्ताव यथाशीघ्र समिति के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिये गये।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि लखनऊ जनपद के अमौसी औद्योगिक क्षेत्र में 18 करोड़ रुपये की लागत से 3600 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में फ्लैटेड फैक्ट्री काम्पलेक्स की स्थापना करायी जायेगी। इसमें 39 औद्योगिक इकाइयों की यूनिटें संचालित होंगी। यह काम्पलेक्स पांच मंजिल का होगा। इसके निर्माण की अवधि दो वर्ष निर्धारित की गई है। फ्लैटेड फैक्ट्री काम्पलेक्स के रेलवे स्टेशन एवं स्टेट हाईवे के निकट होने के फलस्वरूप उद्यमियों को काफी सहूलियत भी मिलेगी।

उन्होंने बताया कि इसी प्रकार बुलंदशहर रोड गाजियाबाद में 30 करोड़ की लागत से 8028 वर्गमीटर क्षेत्रफल में पांच फ्लोर की फ्लैटेड फैक्ट्री काम्पलेक्स विकसित किया जायेगा। इसमें प्रशासनिक भवन, साइबर सेंटर, बैंक, पोस्ट आफिस, सिटिंग लाबी, कॉन्फ्रेंस हाल, एक्जीविशन हाल, डाक्यूमेंटेशन सेंटर, रॉ-मटेरियल स्टोरेज सेंटर तथा कैंटीन सहित सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध होगी। उन्होंने बताया कि जनपद में एटा में 823 लाख रुपये से औद्योगिक क्षेत्र का उन्नयन होगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »