निष्पक्ष, पारदर्शी व सुचितापूर्ण ढ़ग से संपन्न कराये आगामी विधानसभा चुनाव—उप निर्वाचन आयुक्त डा0 चन्द्र भूषण कुमार


भारत निर्वाचन आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त ने की मेरठ, सहारनपुर व मुरादाबाद मंडल के 14 जिलो की निर्वाचन संबंधी तैयारियों की समीक्षा

लखनऊ | भारत निर्वाचन आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त डा0 चन्द्र भूषण कुमार ने निर्वाचन कार्यों की समीक्षा करते हुये कहा कि निष्पक्ष, पारदर्शी व सुचितापूर्ण ढंग से प्रदेश के आगामी विधानसभा निर्वाचन को संपन्न करायें। उन्होने कहा कि वोटर लिस्ट का सही, पारदर्शी होना अत्यंत आवश्यक है। कोई भी मतदाता अपने मताधिकार से वंचित न रहे। सी-विजिल ऐप का प्रचार प्रसार कराया जाये। उन्होंने कहा कि कम से कम 50 प्रतिशत बूथो पर वेबकास्टिंग करायी जाये। वुमेन मैनेज्ड पोलिंग स्टेशन बनाये जाये। अच्छे कार्य को हाईलाईट करें। उन्होने कहा कि निर्वाचन से जुडे सभी अधिकारी व कर्मचारी कोविड-19 डबल वैक्सीनेटेड हों, इसको सुनिश्चित किया जाये। चुनाव कराना एक स्पेस्लाईज्ड ऐक्टिविटी है।
भारत निर्वाचन आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त डा0 चन्द्र भूषण कुमार ने आज कमिश्नरी सभागार में मेरठ, सहारनपुर व मुरादाबाद मंडल के 14 जिलो के अंतर्गत आने वाली 71 विधानसभा में आगामी विधानसभा चुनाव के दृष्टिगत की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। उन्होने बताया कि आगामी दिनों में भारत निर्वाचन आयोग में भी सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों की बैठक होगी, जिसमें जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया जायेगा।
उप निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 70 वर्षों में अब तक करीब 17 लोकसभा, 375 विधानसभा, उप चुनाव, एमएलसी चुनाव आदि कराये जा चुके हैं। उन्होने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों व पुलिस अधिकारियों से कहा कि निष्पक्ष, पारदर्शी व सुचितापूर्ण ढंग से निर्वाचन को संपन्न करायें। उन्होने कहा कि मतदाता सूची (वोटर लिस्ट) का सही, पारदर्शी व साफ-सुथरा होना अत्यंत आवश्यक है। 27 अगस्त 1947 को आजादी के बाद पहली वोटर लिस्ट बनाने का निर्णय लिया गया। पूर्व में 21 वर्ष आयु वोटर के लिए निर्धारित की गयी, जो कि अब 18 वर्ष है। शुद्ध मतदाता सूची प्रजातंत्र के लिए एक महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने कहा कि जो भी वोटर बनने का पात्र है उसका नाम मतदाता सूची में अवश्य हो तथा यह सुनिश्चित किया जाये कि कोई भी मतदाता अपने मताधिकार से वंचित न रहे। सभी जिला निर्वाचन अधिकारी मतदाता सूची संबंधी कार्यों को स्वयं देखें।

उन्होने कहा कि मतदान के लिए मतदाता सूची में नाम होना आवश्यक है। इसके लिए मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में चेक करें। सभी मतदान केन्द्रों पर आयोग द्वारा निर्धारित एश्योर्ड मिनिमम फैसिलिटी (एएमएफ) आवश्यक रूप से हो, इसको सुनिश्चित किया जाये। उन्होने कहा कि जो भी मतदेय स्थल (बूथ) बनाये जाये वह भूतल पर ही हो। सी-विजिल ऐप का प्रचार प्रसार कराया जाये, जिसमें कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करा सके। स्वीप की गतिविधियों को बढ़ाया जाये, इसके लिए आईकॉन नियुक्त किये जायें। वोटिंग परसेन्टेज (मतदान प्रतिशत) को बढ़ाया जाये, इसके लिए योजनाबद्ध तरीके से काम किया जाये। उन्होने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियो से कहा कि वह फार्म 6, 7 व 8 की सुपर चेकिंग भी आवश्यक रूप से करें। ईवीएम व वीवीपैट के संबंध में मतदाताओ को जागरूक किया जाये तथा इसका प्रचार-प्रसार भी किया जाये। उन्होने कहा कि निर्वाचन से जुडे सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को कोविड-19 डबल वैक्सीनेटेड हों, इसको सुनिश्चित किया जाये। जहां बूथ ज्यादा है वहां सिक्योरिटी का भी विशेष ध्यान रखा जाये तथा बूथ पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था हो, इसको सुनिश्चित किया जाये। कम से कम 50 प्रतिशत बूथो पर वेबकास्टिंग करायी जाये। सभी मतदान कार्मिको को निर्धारित मानक के अनुसार फेस मास्क, सर्जिकल ग्लव्स, सैनेटाईजर आदि की व्यवस्था करायी जाये। कोविड प्रोटोकाल का पालन न होने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के अंतर्गत कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि मा0 उच्चतम न्यायायल के निर्देश पर राजनीतिक दलों द्वारा ऐसा प्रत्याशी, जिसका पूर्व में अपराधिक इतिहास रहा (क्रिमिनल एन्टीसिडेन्टस) हो, घोषित करने पर प्रारूप-सी-7 भरवायें और ऐसा प्रत्याशी चुनने का घोषणा पत्र भी लें। इसको तीन बार पब्लिसाईज भी करायें। उन्हांेने कहा कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारी वलरेनेबिलिटी मैपिंग समय से करें तथा वुमेन मैनेज्ड पोलिंग स्टेशन (महिलाओ द्वारा संचालित बूथ) भी बनाये जायें। चुनाव कराना एक स्पेस्लाईज्ड ऐक्टिविटी है। उन्हांेने कहा कि लिंगानुपात (जेन्डर रेशियो) को ठीक रखा जाये।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री अजय कुमार शुक्ला ने कहा कि मतदान लोकतंत्र का उत्सव है। सभी जिला निर्वाचन अधिकारी व पुलिस अधिकारी पूरी तैयारी व आयोग की मंशा के अनुरूप चुनाव संपन्न करायंे। उन्होंने बताया कि दिव्यांग मतदाताओ (पीडब्ल्यूडी) व 80 वर्ष के मतदाताओं के लिए आयोग द्वारा पोस्टल बैलेट की वैकल्पिक व्यवस्था की गयी है। चाहें तो मतदान केन्द्र पर आकर भी अपना वोट डाल सकते हैं।
निदेशक व्यय, भारत निर्वाचन आयोग श्री पंकज श्रीवास्तव ने कहा कि जिला निर्वाचन अधिकारी एक्सपेन्डिचर सेन्सिटिव विधानसभा को चिन्हित करें तथा शराब आदि गतिविधियो से संबंधित व्यक्तियों की सूची को सीमा से लगे हुये राज्यों व जिलों में उसकी सूची साझा करें। पुलिस महानिरीक्षक अपराध उ0प्र0 डा0 संजीव गुप्ता ने कहा कि जिला निर्वाचन अधिकारी व पुलिस अधिकारी वलरेनेबिलिटी मैपिंग की भी सुपर चेकिंग करें।
आयुक्त, मेरठ मंडल सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि सभी मतदान केन्द्रो पर आयोग द्वारा निर्धारित एश्योर्ड मिनिमम फैसिलिटी (एएमएफ) सुनिश्चित की जायेगी तथा मतदान कार्मिकों को भी सभी अन्य आवश्यक वस्तुएं जैसे साबुन, तेल, बाल्टी, मच्छर भगाने की क्वाईल आदि उपलब्ध करायी जायेगी तथा उनके नाश्ते व भोजन की भी अच्छी व्यवस्था की जायेगी। आयोग की मंशा के अनुरूप निर्वाचन संपन्न कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि मेरठ मंडल में 13299 मतदेय स्थल (बूथ) है, जिसमें से मेरठ 2947, गाजियाबाद 3353, गौतमबुद्ध नगर 1754, बुलंदशहर 3070, बागपत 1047, हापुड में 1128 है। उन्होने बताया कि मेरठ मंडल में 4944 मतदान केन्द्र है जिसमें मेरठ 1171, गाजियाबाद 728, गौतमबुद्धनगर 552, बुलंदशहर 1515, बागपत 522 व हापुड में 456 है। उन्होने बताया कि 07 दिसम्बर 2021 तक मेरठ मंडल में 11665133 मतदाता है जिसमे से 6382493 पुरूष, 5281931 महिलाएं, अन्य 709 है जिसमें से मेरठ में 2567515 है, जिसमें से 1401104 पुरूष, 1166205 महिलाएं व 206 अन्य हैं। जनपद गाजियाबाद मेें 1612752 पुरूष, 1265026 महिलाएं व 169 अन्य हैं। जनपद गौतमबुद्ध नगर में 879302 पुरूष, 698420 महिलाएं व 96 अन्य हैं। जनपद बुलंदशहर में 1370238 पुरूष, 1215990 महिलाएं व 131 अन्य हैं। जनपद बागपत में 522193 पुरूष, 426470 महिलाएं व 44 अन्य है। जनपद हापुड में 596904 पुरूष, 509820 महिलाएं व 63 अन्य हैं।

आयुक्त मुरादाबाद मंडल आंजनेय कुमार सिंह ने बताया कि मुरादाबाद मंडल में 11247 मतदेय स्थल (बूथ) है जिसमें मुरादाबाद में 2667, अमरोहा में 1601, बिजनौर 3111, सम्भल 1810 व रामपुर में 2058 है। उन्होने बताया कि मुरादाबाद मंडल में 5751 मतदान केन्द्र है जिसमें मुरादाबाद 1139, अमरोहा 915, बिजनौर 1671, सम्भल में 903 व रामपुर में 1123 है। उन्होने मुरादाबाद मंडल की विभिन्न तैयारियों पर जानकारी दी। उन्होने बताया कि 10 दिसम्बर 2021 तक मुरादाबाद मंडल में 9656675 मतदाता है जिसमे से 5144681 पुरूष, 4511262 महिलाएं, अन्य 732 है जिसमें से जनपद मुरादाबाद में 1265233 पुरूष, 1107623 महिलाएं व 134 अन्य है। अमरोहा में 701556 पुरूष, 630372 महिलाएं व 91 अन्य है। जनपद बिजनौर में 1433106 पुरूष, 1264182 महिलाएं व 137 अन्य है। जनपद सम्भल में 845409 पुरूष, 724512 महिलाएं व 152 अन्य है। जनपद रामपुर में 899377 पुरूष, 784573 महिलाएं व 218 अन्य है।

आयुक्त सहारनपुर मंडल डा0 लोकेश एम0 ने बताया कि सहारनपुर मंडल में 6268 मतदेय स्थल (बूथ) है। जिसमें सहारनपुर 2950, मुजफ्फरनगर 2251 व शामली में 1067 है। उन्होने बताया कि सहारनपुर मंडल में 2629 मतदान केन्द्र है। जिसमंे सहारनपुर में 1308, मुजफ्फरनगर 862 व शामली में 459 है। उन्होने सहारनपुर मंडल की विभिन्न तैयारियों पर जानकारी दी। उन्होने बताया कि 12 दिसम्बर 2021 तक सहारनपुर मंडल में 5530207 मतदाता है जिसमे से 2955026 पुरूष, 2574861 महिलाएं, अन्य 320 है जिसमें से जनपद सहारनपुर में 1353560 पुरूष, 1201516 महिलाएं व 120 अन्य है। 05 दिसम्बर 2021 तक मुजफ्फर नगर में 1084645 पुरूष, 936733 महिलाएं व 122 अन्य है। 11 दिसम्बर 2021 तक शामली में 516821 पुरूष, 436612 महिलाएं व 78 अन्य है।

इस अवसर पर अपर पुलिस महानिदेशक मेरठ जोन, अपर पुलिस महानिदेशक बरेली जोन, पुलिस आयुक्त गौतमबुद्ध नगर, पुलिस महानिरीक्षक मेरठ, डीआईजी सहारनपुर व सभी मेरठ, सहारनपुर व मुरादाबाद मंडल के 14 जिलो के जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व पुलिस अधीक्षको ने निर्वाचन के ंसबंध में की गयी तैयारियों का प्रस्तुतीकरण दिया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »