सैकड़ों वर्षों का इतिहास संजोये आगरा शहर, अब 21वीं सदी के साथ कदम ताल मिलाने के लिए तैयार: प्रधानमंत्री


प्रधानमंत्री ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य का शुभारम्भ किया

लखनऊ | प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आगरा के पास बहुत पुरातन पहचान तो हमेशा से ही रही है, अब इसमें आधुनिकता का नया आयाम जुड़ रहा है। सैकड़ों वर्षों का इतिहास संजोये यह शहर, अब 21वीं सदी के साथ कदम ताल मिलाने के लिए तैयार हो रहा है। आगरा में स्मार्ट सुविधायें विकसित करने के लिए पहले ही लगभग 1000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है। पिछले साल जिस कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का शिलान्यास उनके द्वारा किया गया था, वह भी बनकर तैयार हो गया है। उन्होंने कहा कि 8000 करोड़ रुपये से अधिक का मेट्रो प्रोजेक्ट आगरा में स्मार्ट सुविधाओं से जुड़े मिशन को और मजबूत करेगा।

प्रधानमंत्री आज वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य का शुभारम्भ करने के पश्चात अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बीते 6 वर्षाें में उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में जिस तेजी से मेट्रो रेल नेटवर्क पर कार्य हुआ है, वह सरकार की पहचान और प्रतिबद्धता को दर्शाता है। वर्ष 2014 तक देश में लगभग 225 किलोमीटर मेट्रो रेल लाइन ऑपरेशनल थी। वर्ष 2014 के बाद के 06 वर्षों में देश में 450 किलोमीटर से ज्यादा मेट्रो रेल लाइन, देशभर में आॅपरेशनल है तथा लगभग 1000 किलोमीटर मेट्रो लाइन पर तेज गति से काम भी चल रहा है। देश के 27 शहरों में मेट्रो का कार्य या तो पूर्ण हो चुका है या अलग-अलग चरणों में चल रहा है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आगरा मेट्रो रेल सुविधा से जुड़ने वाला राज्य का 7वां शहर है। देश में सिर्फ मेट्रो रेल नेटवर्क ही नहीं बन रहा है, बल्कि मेक इन इण्डिया मेट्रो कोच भी बन रहे हैं। सिग्नल सिस्टम का भी पूरी तरह से भारत में ही निर्माण हो, इस पर काम चल रहा है। इस तरह अब मेट्रो नेटवर्क के मामले में भी भारत आत्मनिर्भर हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज के नये भारत के पास बड़े सपने देखने के साथ ही उन्हें पूर्ण करने का साहस भी है। साहस और समर्पण के साथ आगे बढ़ने पर कोई भी बाधा आड़े नहीं आ सकती है। 20वीं सदी में जो भूमिका जो देश के मेट्रो शहरों ने निभाई है, उसी भूमिका को विस्तार देने का काम अब हमारे आगरा जैसे छोटे शहरों तक हुआ है। आत्मनिर्भर भारत की भूमिका निभाने के लिये अनेक विकास कार्य पर बहुत ज्यादा जोर दिया गया है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शहरों में आत्मनिर्भरता के लिए आवश्यक हर चीज है। यहां की भूमि एवं किसानों में अपार सामथ्र्य है। पशुधन के मामले में भी यह क्षेत्र देश में अग्रणी हैं। यहां डेरी और फूड प्रोसेसिंग से जुड़े लोगों के लिए बहुत संभावनाएं हैं। इसके अलावा यह क्षेत्र सर्विस सेक्टर और मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में भी आगे बढ़ रहा है। आधुनिक सुविधाएं मिलने व आधुनिक कनेक्टिविटी मिलने से पश्चिमी उत्तर प्रदेश का यह सामथ्र्य और बढ़ रहा है। देश का पहला रेल मेट्रो ट्रांसपोर्ट सिस्टम मेरठ से दिल्ली के बीच बन रहा है। दिल्ली-मेरठ के बीच 14 लेन का एक्सप्रेस-वे भी जल्द ही इस क्षेत्र के लोगों को सेवा देने लगेगा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अनेक जिलों को जोड़ने वाले गंगा एक्सप्रेस-वे को राज्य सरकार पहले ही स्वीकृति दे चुकी है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के जेवर में आधुनिक विश्वस्तरीय ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट से इस क्षेत्र की पहचान पूरी तरह बदलने वाली है। देश के इंफ्रास्ट्रक्चर की एक बहुत बड़ी दिक्कत, नये प्रोजेक्ट की घोषणा के बाद इसके लिए धनराशि पर ध्यान नहीं दिया गया। इससे काम की रफ्तार बहुत धीमी थी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने नई परियोजनाओं की शुरुआत के साथ ही, उसके लिये आवश्यक धनराशि के इन्तजाम पर भी उतना ही ध्यान दिया है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि कनेक्टिविटी और आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर जितना आज देश में खर्च किया जा रहा है, उतना पहले कभी नहीं हुआ। अब नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के तहत 100 लाख करोड़ रुपये से भी अधिक खर्च करने की तैयारी की जा रही है। मल्टी माॅडल इन्फ्रास्ट्रक्चर कनेक्टिविटी प्लान पर भी काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोशिश यह है कि देश में इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए पूरी दुनिया से निवेश आकर्षित किया जाय। इंफ्रास्ट्रक्चर और रियल एस्टेट प्रोजेक्ट में इन्वेस्ट में विदेशी निवेश को  आसान बनाने के लिए भी हर जरूरी कदम उठाये जा रहें हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज शहरी गरीब को मुफ्त इलाज मिल रहा है और मध्यम वर्ग को सस्ती दवाएं मिल रही हैं। सस्ती सर्जरी उपलब्ध कराई जा रही है। सरकार की कोशिशों से बिजली से लेकर मोबाइल फोन तक पर खर्च बहुत कम हुआ है। एजुकेशन लोन से लेकर होम लोन तक ब्याज की दरें कम की गई हैं। यह भी पहली बार हुआ है, जब रेहड़ी, ठेला लगाने वाले एवं छोटे उद्यम को बैंकों से सस्ता ऋण उपलब्ध कराया गया है। यही ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ है। बीते कुछ समय से जो रिफाॅम्र्स किये जा रहे हैं, उनसे देश में नया आत्मविश्वास बढ़ा है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री जी द्वारा आगरा मेट्रो रेल परियोजना के शुभारम्भ के साथ ही इस ऐतिहासिक शहर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट के एक नये युग की शुरुआत हुई है। आगरा में वर्तमान में 26 लाख की आबादी निवास करती है। प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक भी आगरा आते हैं। प्रधानमंत्री ने पिछले 06 वर्षों के दौरान देश के अन्दर बेहतर पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिये मेट्रो रेल जैसी सुविधाओं के विकास के लिये जो प्रयास प्रारम्भ किये हैं, उसका परिणाम है कि उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में भी तेजी के साथ मेट्रो रेल सुविधाओं का व्यापक प्रसार हुआ है। प्रदेश के अन्दर गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सफलतापूर्वक मेट्रो के संचालन हो रहा है। प्रधानमंत्री के द्वारा कानपुर शहर में भी मेट्रो रेल परियोजना कार्य का शुभारम्भ किया गया था। इस परियोजना पर युद्धस्तर पर काम चल रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सबके लिए गौरव की बात है, जहां एक ओर कोरोना कालखण्ड में देश के अन्दर गरीब, नौजवान सहित समाज के प्रत्येक वर्ग को जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में अभूतपूर्व कार्य हुआ, वहीं प्रधानमंत्री की आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को तेजी से साकार करने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए भी अभूतपूर्व प्रयास हुए हैं।
संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन का इन्वेस्टमेन्ट प्रमोशन अवार्ड-2020, ‘इन्वेस्ट इंडिया’ को दिए जाने के लिए प्रधानमंत्री को प्रदेशवासियों की ओर से बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत को दुनिया के शीर्ष निवेश स्थलों के रूप में स्थापित करने के लिए प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन के लिए हम सब उनके कृतज्ञ हैं। यह प्रतिष्ठित सम्मान भारत में व्यापार के लिये अनुकूल वातावरण की स्थापना के लिये वैश्विक मान्यता को भी एक उच्च मानदण्ड प्रदान करता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘इन्वेस्ट इण्डिया’ प्रदेश में निवेश प्रोत्साहन एजेंसी के तौर पर गठित ‘इन्वेस्ट यू0पी0’ के लिये एक मूल्यवान भागीदार है। देश में ईज आॅफ डुइंग बिजनेस के लिये किये गये असाधारण प्रयासों के लिये प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अधिकाधिक निवेश के लिये ‘इन्वेस्ट यू0पी0’, ‘इन्वेस्ट इण्डिया’ के साथ मिलकर कार्य करने के लिये सदैव तत्पर रहेगी।
   कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल वर्चुअल रूप से उपस्थित थीं।
कार्यक्रम को केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य राज्य मंत्री श्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी, प्रदेश के समाज कल्याण राज्यमंत्री डाॅ0 गिर्राज सिंह धर्मेश, सांसद प्रो0 एस0पी0 सिंह बघेल, आगरा के महापौर श्री नवीन जैन एवं विधायक श्री योगेन्द्र उपाध्याय ने भी सम्बोधित किया।
——-



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »