corona warriors: ग़ाज़ियाबाद में यूपीसीडा एवं उद्यमियों की अनूठी पहल


सतत प्रयासों के कारण ८०-८५% उद्योग चल रहे है और ८५-९०% मज़दूर काम पर आ रहे है

ग़ाज़ियाबाद की ४० इकाइयों में २११ isolation beds भी स्थापित किए गए

ग़ाज़ियाबाद में Upsida द्वारा औद्योगिक क्षेत्रों में 5606 covid help-desk स्थापित और संचालित



ग़ाज़ियाबाद| यूपीसीडा सीईओ मयूर माहेश्वरी के आह्वान पर यूपीसीडा ग़ाज़ियाबाद एवं ग़ाज़ियाबाद के उद्यमी ज़िले के साथ प्रदेश में भी corona warriors के रूप में उभर के आए है । ग़ाज़ियाबाद मूलतः औद्योगिक नगरी है और यहाँ की 65-70% जनसंख्या उद्योगो से जुड़ी हुई है ।
मुख्यमंत्री की आशाओं के अनुरूप अनेक कठिनाइयों जिनके कच्चे माल की कमी , तैयार माल को भेजना , transportation की दिक़्क़तें इत्यादि सम्मिलित है , के बावजूद उद्योगों को क्रियान्वित रखा और मज़दूरों का पलायन नहीं होने दिया । यह जानकारी यूपीसीडा ग़ाज़ियाबाद रीजनल मैनेजर डाक्टर स्मिता सिंह ने दी ।

उन्होंने बताया किUpsida के सतत प्रयासों के कारण ८०-८५% उद्योग चल रहे है और ८५-९०% मज़दूर काम पर आ रहे है ।ODOP में ग़ाज़ियाबाद मुख्यतः iron & स्टील इंडस्ट्री के लिए विख्यात है । ज़िले के १० औद्योगिक क्षेत्रों में लगभग ४०० आइअर्न उद्योग है और लगभग इतने ही iron & स्टील ट्रेडिंग प्रतिशठान है । COVID -19 प्रकोप और पिछले वर्ष के अनुभव को ध्यान में रखते हुए Upsida द्वारा विगत माह से ही उद्यमियों को बड़े उद्योग़ो में COVID help-desk एवं छोटे उद्योगो में संयुक्त help-desk अथवा असोसीएशन के माध्यम से अलग अलग ब्लॉक में हेल्प डेस्क स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया गया। जिसके फलस्वरूप आज औद्योगिक क्षेत्रों में 5606 covid help-desk स्थापित और संचालित है । प्रत्येक डेस्क मे oxymetre , thermometer, sanitizer और gloves उपलब्ध है । Upsida द्वारा अपने कार्यालय में भी हेल्प-डेस्क संचालित की जा रही है तथा social distancing का पालन करते हुए उद्यमियों के सभी कार्य किए जा रहे है ।


रीजनल मैनेजर डाक्टर स्मिता सिंह ने बताया कि Upsida की पहल पर ग़ाज़ियाबाद की ४० इकाइयों में २११ isolation beds भी स्थापित किए गए है और आने वाले सप्ताह में इनकी संख्या दुगनी हो जाएगी ।
करोना काल में oxygen सप्लाई की कमी को पूरी करने के लिए Upsida द्वारा ज़िला प्रशासन के सहयोग के लिए टास्क फ़ोर्स का भी गठन किया गया , तथा सभी उद्यमियों से ऑक्सिजन cylinders समर्पित करने की अपील की गयी । लगभग २०० इकाइयों द्वारा अपने ऑक्सिजन cylinders (२०००)अस्पतालों एवं प्रशासन को समर्पित किए गए एवं उद्यमियों इनकी निशुल्क refilling का बीड़ा भी उठाया गया जो की वर्तमान में भी चल रहा । उद्यमियों इस पहल का ज़िले की ऑक्सिजन उपलब्धता पर अनुकूल प्रभाव पड़ा है ।
डाक्टर स्मिता सिंह ने बताया कि दिनांक १२ मई को सीईओ श्री मयूर माहेश्वरी द्वारा ज़िले के प्रबुद्ध उद्यमियों के साथ विडीओ कॉन्फ़्रेन्स भी की गयी थी जिसमें उनके द्वारा उद्यमियों की समस्याओं एवं सुझावों पर विस्तृत चर्चा गयी । चर्चा में CEO द्वारा COVID के परिप्रेक्ष्य में नए प्रोजेक्ट , ऑक्सिजन से सम्बंधित उद्योग प्रारम्भ करने पर बल दिया । ग़ाज़ियाबाद के iron & स्टील उद्योग जिनके ऑक्सिजन आधारित उत्पादन है , उनके अब ऑक्सिजन के स्थान पर plasma cutter का प्रयोग किया जा रहा है जो की Ghaziabad ही नहीं प्रदेश और देश की ऐसी इकाइयों के लिए मिसाल है और प्रेरणदायक है ।
गर्व की बात है की Upsida के प्रोत्साहन एवं सहयोग से ग़ाज़ियाबाद के उद्योग़ो द्वारा करोना काल में शहर के अतिरिक्त अन्य ज़िलों की इकाइयों की भी मदद की-
M/s गूडलक इंडिया pvt Ltd GT रोड द्वारा शहर के नागरिकों के लिए
१०० concentrators उपलब्ध कराए गए ।
M/s Jaigopal Enjineering वर्क्स
Sahibabad द्वारा
Gorakhpur ऑक्सिजन प्लांट के liye cylinder valve ,nut filling & nipple filling सप्लाई की गयी ।
M/s AGC Chemicals साहिबाबाद द्वारा Aryabhatta Enterprises अलीगढ़ को ऑक्सिजन concentrators बनाने के लिए zeolite सप्लाई किया जा रहा ।
उद्यमियों द्वारा Upsida के सहयोग से शीघ्र ही ऑक्सिजन concentrator , machinery पार्ट्स उत्पादन एवं supply , paediatric beds , mini आक्सिजन cylinders ityaadi के क्षेत्र में कदम रखा जा रहा है । कार्यवाही प्रारम्भ हो चुकी है । Upsida की अति महत्वपूर्ण पहल पर प्रदेश में oxygen ग्रिड की स्थापना में भी Ghaziabad के उद्योगो द्वारा महत्वपूर्ण योगदान दिया जाएगा ।
वर्तमान में औद्योगिक क्षेत्रों में २ ऑक्सिजन generation plant एवं ८ refilling प्लांट संचालित है ।
Upsida द्वारा सभी अनुमतियाँ एवं सेवाएँ online कर दी गयी है । वर्तमान में आवंटितों को किसी भी कार्य के लिए Upsida ऑफ़िस आने की आवश्यकता नहीं है । अपने ऑफ़िस या घर से ऑनलाइन आवेदन डाल कर कोई भी सेवा या अनुमति प्राप्त की जा सकती है । साथ ही क्षेत्रीय प्रबंधक एवं अधिकारी फ़ोन पर हमेशा उपलब्ध रहते है ।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top