उद्यमिता प्रोत्साहन हेतु उद्यम सारथी पोर्टल एवं एप विकसित किया जायेगा—डा0 नवनीत सहगल


डा0 नवनीत सहगल की अध्यक्षता में उद्यमिता विकास संस्थान के
संचालक मण्डल की 65वीं बैठक सम्पन्न, उद्यम सारथी एप के माध्यम से रोजगार, स्वरोजगार, प्रबंधन एवं कौशल से संबंधित विभिन्न प्रकार के 1000 कोर्सेस होंगे शुरू
स्कूल आॅफ एम्पलाईल्टिी, डी0 फार्मा एवं बी0 फार्मा के डिग्री एवं डिप्लोमा
कोर्सेस प्रारंभ करने का निर्णय, क्षेत्रीय कार्यालय एन0सी0आर0 में स्थापित किये जाने पर भी स्वीकृति प्रदान की गई।



lucknow | अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम डा0 नवनीत सहगल की अध्यक्षता में आज लोक भवन स्थित उनके कार्यालय कक्ष में उद्यमिता विकास संस्थान के संचालक मण्डल की 65वीं बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में उद्यमिता प्रोत्साहन हेतु उद्यम सारथी पोर्टल एवं एप विकसित करने का निर्णय लिया गया। यह पोर्टल एक जिला-एक उत्पाद (ओ0डी0ओ0पी0) पोर्टल से लिंक होगा और इस एप के माध्यम से रोजगार, स्वरोजगार, प्रबंधन एवं कौशल से संबंधित विभिन्न प्रकार के 1000 कोर्सेस प्रारंभ किये जायेंगे, जो पूरी तरह निःशुल्क होंगे। आमजन इस पोर्टल के माध्यम से सरकार की उद्यम स्थापना से संबंधित विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी प्राप्त कर सकेग।

इसके अतिरिक्त बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि स्कूल आॅफ एम्पलाईल्टिी, डी0 फार्मा एवं बी0 फार्मा के डिग्री एवं डिप्लोमा कोर्सेस प्रारंभ किये जाय। साथ ही मैटेरियल टेस्टिंग लैब की स्थापना तथा संस्थान स्तर पर वोकेशनल बोर्ड के गठन का निर्णय लिया गया। मैटेरियल टेस्टिंग लैब के माध्यम से निर्माण क्षेत्र के प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को रोजगार के अवसर सुलभ होंगे। इसके अतिरिक्त संस्थान का एक अन्य क्षेत्रीय कार्यालय एन0सी0आर0 में स्थापित किये जाने पर भी स्वीकृति प्रदान की गई।
अपर मुख्य सचिव डा0 नवनीत सहगल ने कहा कि संस्थान द्वारा प्रदेश में स्थापित कराये जा रहे कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय के तहत विभिन्न विधाओं में सर्टिफिकेट से डिग्री स्तर तक की रोजगार एवं स्वरोजगारपरक शिक्षा प्रदान की जायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार के इन सभी महत्वपूर्ण प्रयासों से युवाओं के लिए रोजगार एवं स्वरोजगार के नये अवसर सृजित होंगे।

बैठक में संचालक मण्डल की सदस्य सचिव/निदेशक उद्यमिता विकास संस्थान तथा सदस्य के रूप में अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास, कोषागार एवं पेंशन, आयुक्त एवं निदेशक उद्योग, उ0प्र0 वित्तीय निगम, उ0प्र0 कौशल विकास मिशन, भारतीय प्रंधन संस्थान, एम0एस0एम0ई0 विकास संस्थान, भारतीय स्टेट बैंक, नाबार्ड, हथकरघा एवं वस्त्र उद्योग के अधिकारी मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »