यमुना प्राधिकरण लॉजिस्टिक पार्क में कजाकिस्तान की कंपनी करेगी एक हजार करोड़ रुपए का निवेश, सौंपा प्रस्ताव, 200 एकड़ जमीन मांगी


प्रतिनिधिमंडल ने प्रभारी सीईओ मोनिका रानी से मुलाकात की

लखनऊ | कजाकिस्तान की कंपनी यमुना प्राधिकरण में लॉजिस्टिक पार्क विकसित करेगी। इसके लिए 200 एकड़ जमीन मांगी है। इससे यहां पर एक हजार करोड़ रुपए का निवेश होगा| इसमें एक हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में लॉजिस्टिक पार्क विकसित करने के लिए कजाकिस्तान का एएल स्टाइल समूह आगे आया है।


कंपनी का प्रतिनिधिमंडल यमुना प्राधिकरण आया। प्रतिनिधिमंडल ने प्रभारी सीईओ मोनिका रानी से मुलाकात की है।प्रतिनिधिमंडल में समूह के अध्यक्ष एवं रणनीतिक निदेशक इवान मर्ज़िलिकिन, सीईओ एवं सामरिक निदेशक विटालि मर्ज़िलिकिन, इरिना पिंगोरिना, अमरदीप सिंह और कैप्टन राहुल वर्मा आदि शामिल रहे।


एएल स्टाइल कंपनी ने यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में बाजना-टप्पल में प्रस्तावित मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क में 1,000 करोड़ रुपए का निवेश करने की इच्छा जताई है। इसके लिए उसने 200 एकड़ जमीन मांगी है। अधिकारियों ने पीपीपी मॉडल के जरिये इस परियोजना को बढ़ाने के लिए कहा। पर कंपनी ने खुद जमीन खरीदकर काम करने की इच्छा जताई है। इस निवेश से यहां 1,000 से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार मिल सकेगा।

प्राधिकरण ने अधिकारियों ने बताया कि वह टप्पल में लॉजिस्टिक पार्क पर काम कर रहे हैं। इसमें उन्हें जमीन मिल सकती है। अधिकारियों ने उन्हें यहां की सुविधाओं समेत सभी जानकारी साझा की। यह कंपनी कंप्यूटर, नेटवर्क, इंस्टालेशन डिवाइस, कंपोनेंट, बच्चों के लिए खिलौने, मौसमी सामान और मोबाइल फोन आदि क्षेत्र में काम करती है। इस कंपनी को कजाकिस्तान और किर्गिस्तान में फोर्ब्स पत्रिका ने शीर्ष 100 कंपनियों में से 35वां स्थान दिया है।


Scroll To Top
Translate »