नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू ,नौ दिन मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की उपासना होगी


—– पं. राजेश शर्मा —–

इस बार नवरात्रि एक महीने देरी से शुरू हो रहे हैं. अधिकमास की वजह से ना सिर्फ नवरात्रि, बल्कि दशहरा और दीपावली भी देरी से शुरू होंगे. हिंदू पंचांग के अनुसार इस बार शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर 2020 से शुरू होंगे और 25 अक्टूबर तक रहेंगे. इस बीच पूरे नौ दिन मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की उपासना होगी. आइए आपको नवरात्रि के देरी से शुरू होने की वजह और पूरे 9 दिन के कार्यक्रम की जानकारी देते हैं.

हिन्दू पंचांग में बारह मास होते हैं. यह सूर्य की संक्रांति और चन्द्रमा पर आधारित होते हैं. हर वर्ष सूर्य और चन्द्र मास में लगभग 11 दिनों का अंतर आ जाता है. इस अंतर को पाटने के लिए हर तीसरे वर्ष एक अतिरिक्त मास बढ़ जाता है, जिसे अधिकमास कहते हैं. इसे लोकाचार में मलमास भी कहा जाता है. अधिमास में शुभ कार्य वर्जित माने जाते हैं.इस साल नवरात्रि पर्व 17 अक्टूबर 2020 से प्रारंभ हो रहा है जो 25 अक्टूबर 2020 तक चलेगा। राम नवमी 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा। हिन्दू पंचांग के अनुसार, आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवरात्र पर्व शुरू होता है जो नवमी तिथि तक चलते हैं।

घटस्थापना मुहूर्त हिन्दू पंचांग के अनुसार इस दिन आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के दिन घट स्थापना मुहूर्त का समय प्रात:काल 06:27 बजे से 10:13 बजे तक बताया गया है। वहीं घटस्थापना के लिए अभिजित मुहूर्त प्रात:काल 11:44 बजे से 12:29 बजे तक रहेगा। शारदीय नवरात्रि का कार्यक्रम 17 अक्टूबर- 2020 मां शैलपुत्री पूजा घटस्थापना 18 अक्टूबर- 2020 मां ब्रह्मचारिणी पूजा 19 अक्टूबर- 2020 मां चंद्रघंटा पूजा 20 अक्टूबर- 2020 मां कुष्मांडा पूजा 21 अक्टूबर- 2020 मां स्कंदमाता पूजा 22 अक्टूबर- 2020 षष्ठी मां कात्यायनी पूजा 23 अक्टूबर- 2020 मां कालरात्रि पूजा 24 अक्टूबर- 2020 मां महागौरी दुर्गा पूजा 25 अक्टूबर- 2020 मां सिद्धिदात्री पूजा नवरात्रि में नौ रंगों का महत्व नवरात्रि के समय हर दिन का एक रंग तय होता है। मान्यता है कि इन रंगों का उपयोग करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। प्रतिपदा- पीला द्वितीया- हरा तृतीया- भूरा चतुर्थी- नारंगी पंचमी- सफेद षष्टी- लाल सप्तमी- नीला अष्टमी- गुलाबी नवमी- बैंगनी

भृगु ज्योतिष अनुसन्धान केन्द्र मेरठ कैन्ट 9808668008 -7017741748 pt.rksharma17@gmail.com


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »