ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला- उद्यमियों, हस्तशिल्पियों व कारीगरों को नई पहचान दिलाएगा: मुख्यमंत्री


मुख्यमंत्री ने ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला-2020’ का शुभारम्भ किया 

लखनऊ | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश को असीमित सम्भावनाओं का राज्य बताते हुए कहा है कि ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला-2020’ प्रदेश के परम्परागत उत्पादों को राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने के साथ-साथ उद्यमियों, हस्तशिल्पियों व कारीगरों को नई पहचान दिलाएगा। उन्होंने कहा कि यह ओ0डी0ओ0पी0 मेला जनपद के विशिष्ट एवं परम्परागत उत्पादों को प्रोत्साहित करेगा और रोजगार की व्यापक सम्भावनाओं को भी तेजी से आगे बढ़ाएगा। इसके अलावा, उद्यमियों व कारीगरों को उनके उत्पादों की सही कीमत दिलाने में भी यह मेला मदद करेगा।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास से ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला-2020’ के शुभारम्भ अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर लंदन में भारत के उच्चायुक्त श्री गायत्री इस्सर कुमार सहित फिक्की की अध्यक्ष डाॅ0 संगीता रेड्डी मौजूद थीं।
मुख्यमंत्री ने कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी के दौर में ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला-2020’ को समय की आवश्यकता एवं एक अभिनव प्रयोग बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में परम्परागत उत्पादों को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति में प्रदेश के एम0एस0एम0ई0 क्षेत्र को सहायता प्रदान करने हेतु प्रदेश सरकार एवं भारत सरकार द्वारा अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाये गए हैं। प्रदेश सरकार के इन्हीं अनूठे प्रयासों की कड़ी में आज ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला’ का शुभारम्भ किया जा रहा है। यह मेला 19 से 23 अक्टूबर, 2020 तक आयोजित किया जाएगा। ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला-2020’ के माध्यम से प्रदेश के हस्तशिल्पियों, कारीगरों, उद्यमियों एवं निर्यातकों को अपने उत्पादों की ब्राण्डिंग, मार्केटिंग एवं विक्रय की प्रक्रिया को आसान किया गया है। यह प्रयास सम्पूर्ण भारत वर्ष में इस प्रकार का प्रथम प्रयोग है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेले के माध्यम से कोई पंजीकृत उद्यमी अपने उत्पाद क्रेता को बेच सकता है एवं ‘पेमेण्ट गेटवे’ के माध्यम से उत्पाद का मूल्य प्राप्त कर सकता है। अन्य एक्सपोर्ट काउंसिलों जैसे-काउंसिल फाॅर लेदर एक्सपोर्ट, इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फाॅर हैण्डीक्राफ्ट, अपैरल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, हैण्डलूम एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल इत्यादि के साथ समन्वय करते हुए मेले को नए आयाम प्रदान किए जाने के प्रयास किये गए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्चुअल मेले में वेबिनार तथा डिजिटल सेशन्स का भी आयोजन किया जा रहा है, ताकि राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ओ0डी0ओ0पी0 उत्पादों की ब्राण्डिंग की जा सके। ओ0डी0ओ0पी0 कार्यक्रम के एम0ओ0यू0 पार्टनर्स- अमेजन, फ्लिपकार्ट, इबे इण्डिया, क्वालिटी काउन्सिल आॅफ इण्डिया, इण्डियन इंस्टीट्यूट आॅफ पैकिंग, सिडबी, बैंक आॅफ बड़ौदा, निफ्ट रायबरेली आदि भी इस मेले से जुड़े हुए हैं। इनके विशेषज्ञों द्वारा मेले की विभिन्न तिथियों में तकनीकी सत्रों में भाग लिया जाएगा। भारत में स्थित विदेशी दूतावासों तथा विदेशों में स्थित भारतीय दूतावासों को इस वर्चुअल फेयर से जोड़ा गया है।

मुख्यमंत्री ने वर्चुअल मेले के आयोजन के लिए एम0एस0एम0ई0 विभाग, फिक्की तथा एक्सपोर्ट प्रमोशन काउन्सिल फाॅर हैण्डीक्राफ्ट्स को धन्यवाद देते हुए कहा कि फिक्की व ई0पी0सी0एच0 द्वारा संयुक्त रूप से विकसित इस ‘ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेला-2020’ के मुख्य आकर्षण ओ0डी0ओ0पी0 उत्पादों की ब्रांडिंग, मार्केटिंग, बैकवर्ड एवं फाॅरवर्ड लिंकेज बनाना तथा ओ0डी0ओ0पी0 उत्पादों एवं उद्यमियों के लिए बिजनेस टू बिजनेस को विकसित करना है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वाराणसी की उद्यमी सुश्री शैलजा अरोड़ा (रेशम उत्पाद) तथा आगरा के श्री अनुराग मित्तल (मार्बल इन्ले) से संवाद किया। उन्होंने उद्यमियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उनके द्वारा किए जा रहे कार्य एवं प्रयास सराहनीय हैं। इनसे प्रदेश के परम्परागत उत्पादों और कला का संरक्षण हुआ है।
वाराणसी की सुश्री अरोड़ा ने कहा कि उनके उद्यम के तहत साड़ियों पर मशीन प्रिन्टिंग, ब्लाॅक प्रिन्टिंग तथा हैण्ड प्रिन्टिंग का कार्य किया जाता है। सरकार की ओ0डी0ओ0पी0 योजना के तहत इस कार्य को काफी प्रोत्साहन मिला है। योजना के तहत मशीन की खरीद में छूट मिली है। इससे कार्य में आसानी हुई है तथा प्रिन्टिंग और साड़ियों की गुणवत्ता बढ़ी है।
आगरा के श्री मित्तल ने बताया कि उनकी उद्यम इकाई द्वारा मार्बल इन्ले एवं मार्बल के उत्पादों का निर्यात किया जाता है। देशी-विदेशी मेलों में शामिल होने में आने वाले खर्च व विदेशों में सैम्पल भेजने का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। मार्बल इन्ले को ओ0डी0ओ0पी0 में शामिल होने से उन्हें सुविधा हुई है और एक नया अध्याय शुरू हुआ है। ओ0डी0ओ0पी0 में इकाइयों एवं शिल्पियों को लोन लेने पर सरकार द्वारा सब्सिडी दी जा रही है, जिससे वित्तीय सहायता मिली है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए एम0एस0एम0ई0 मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि उनके मार्गदर्शन में चलाए जा रहे कार्यक्रमों के तहत कोविड-19 महामारी के दौरान ओ0डी0ओ0पी0 के उत्पादों को इस वर्चुअल मेले के माध्यम से देश-विदेश में पहुंचाने का कार्य होगा। यह पूरे देश में इस प्रकार का पहला कार्यक्रम है, जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर का है। प्रदेश के लगभग 600 ओ0डी0ओ0पी0 विक्रेता मेले में अपनी स्टाॅल लगा चुके हैं और क्रेताओं एवं विक्रेताओं की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि कई संस्थाएं इस मेले के आयोजन से जुड़ी हुई हैं।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि कोरोना काल में ओ0डी0ओ0पी0 तथा एम0एस0एम0ई0 सेक्टर के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती थी, जिसका सामना प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर पैकेज तथा मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन के तहत सफलतापूर्वक किया गया। इसी का परिणाम ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेले का आयोजन है। अब तक कुल 35 देशों के क्रेता तथा देश के लगभग 1000 क्रेता मेले में पंजीकृत हो चुके हैं। ओ0डी0ओ0पी0 प्रकोष्ठ एवं फिक्की द्वारा फेसबुक, गूगल तथा अन्य माध्यमों के द्वारा ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेले-2020 का व्यापक प्रचार-प्रसार किया गया है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए फिक्की की अध्यक्ष डाॅ0 संगीता रेड्डी ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के दौरान ओ0डी0ओ0पी0 वर्चुअल मेले-2020 का आयोजन राज्य सरकार का एक सराहनीय प्रयास है। इससे बायर्स और सेलर्स के बीच अच्छा तालमेल विकसित होगा और ओ0डी0ओ0पी0 उत्पादों को प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने कहा कि फिक्की ने इस प्रकार के आयोजन को एक साल तक चलाए जाने का निर्णय लिया है।
श्री राकेश कुमार डायरेक्टर जनरल ई0पी0सी0एच0 ने मुख्यमंत्री जी एवं अन्य के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, निदेशक सूचना श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »