अपने अधिकारों के लिए सजग हुए विकास प्राधिकरण सेवानिवृत्त कर्मी


उत्तर प्रदेश विकास प्राधिकरण सेवानिवृत्त कर्मचारी संगठन का निर्माण

दिनेश शर्मा-गाजियाबाद– अब संपूर्ण उत्तर प्रदेश के विकास प्राधिकरण के रिटायर कर्मचारियों के खून में उबाल आ गया है। वर्तमान में सेवानिवृत्त होने वाले खुद्दार कर्मचारी अपने स्वाभिमान की रक्षा हेतु किसी भी कीमत पर सरकार से भिड़ने को तैयार हो गए हैं। देखा जाए तो कर्मचारियों का आहत होना स्वाभाविक भी है। उत्तर प्रदेश सरकार हठधर्मिता अपनाए हुए है। नौकरशाह बेलगाम हो गए हैं। कर्मचारी अपनी उपेक्षा से आहत हैं। वेतन विसंगतियों पर बातचीत/बैठक बेनतीजा रहती है। कर्मचारियों की मांगों पर सरकार टालमटोल करती रहती है। कर्मचारी संगठन अपने संगठन सदस्यों की अपेक्षाओं को पूरा करने में असहाय हो रहे हैं। भाजपा सरकार की छवि सरकारी कर्मियों में नकारात्मक बन गई है। सरकारी कर्मचारियों में जबरदस्त रोष व्याप्त है। सरकारी कर्मचारी अपने नेताओं को कोसते हैं। कर्मचारी नेता नौकरशाह/सरकार को कोसते हैं। बस यही क्रम चल रहा है।

इसी से आहत होकर पहल करते हुए सेवानिवृत्त कर्मियों द्वारा उत्तर प्रदेश विकास प्राधिकरण सेवानिवृत्त कर्मचारी संगठन का निर्माण किया जिसके आम सहमति से प्रथम प्रांतीय अध्यक्ष श्री एमपी शर्मा को मनोनीत किया गया। श्री एमपी शर्मा को कर्मचारी नियमावली,शासनादेश आदि की जानकारी व कर्मचारी हितों की आवाज उठाने के लिए बेबाक व निडरता के लिए जाना जाता है । अभी हाल में उन्होंने अपने सेवानिवृत्त होने के उपरांत मिलने वाले लाभ की प्राप्ति के लिए मा0 उच्च न्यायालय की शरण ली तथा उसमें सफलता/विजय प्राप्त की । प्रांतीय संगठन के निर्माण में मुख्य रुप से श्री डीडी शर्मा (इन्हें उत्तर प्रदेश के समस्त विकास प्राधिकरण में सर्वप्रथम गाजियाबाद विकास प्राधिकरण में सेवानिवृत्त कर्मियों को पेंशन दिलाएं जाने का श्रेय दिया जाता है ) ,श्री योगेश दत्ता ( पूर्व अध्यक्ष,गाजियाबाद विकास प्राधिकरण कर्मचारी संघ ),श्री वृंदावन दोहरे (प्रांतीय तेजतर्रार कर्मचारी नेता) ,श्री दिनेश जोशी (प्रांतीय अनुभवी,जुझारू कर्मचारी नेता) ,श्री दिनेश शर्मा जमदग्नि,श्री शेर मोहम्मद(अध्यक्ष, मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण सेवानिवृत्त कर्मचारी संगठन),श्री मनीष कुमार,श्री राम प्रकाश ध्यानी,श्री अनिल कुमार शर्मा,श्री दिनेश दत्त शर्मा,श्री अजय त्यागी आदि ने मुख्य रूप से अन्य सभी साथियों के सहयोग से सक्रिय भूमिका निभाई।
सेवानिवृत्त कर्मचारियों की मांग पर अब प्रांतीय संगठन द्वारा प्रदेश के सभी विकास प्राधिकरण में सेवानिवृत्त कर्मियों का स्थाई संगठन के निर्माण किए जाने की योजना है । प्रदेश के कुछ प्राधिकरण के सेवानिवृत्त कर्मियों द्वारा पहले से ही अपने अधिकारियों की उपेक्षा से आहत होकर स्थानीय सेवानिवृत्त कर्मचारी संगठनों का निर्माण किया जा चुका है। बाकी के शेष प्राधिकरण में स्थानीय सेवानिवृत्त कर्मचारियों के संगठन का निर्माण प्राथमिकता पर कराया जा रहा है ।
उसी क्रम में पहल करते हुए मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण के संगठन का गठन हो गया है जिसके स्थानीय संगठन का अध्यक्ष श्री शेर मोहम्मद को चुना गया है। श्री शेर मोहम्मद सेवानिवृत्त होने से पूर्व भी मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष पद को सुशोभित कर चुके हैं। सेवानिवृत्त कर्मियों द्वारा इसी अनुभव का लाभ लेने हेतु श्री शेर मोहम्मद को स्थानीय संगठन की कमान सौंपी है तथा आशा की कि शेर मोहम्मद उसी जोश व कर्मठता से सेवानिवृत्त कर्मचारियों की अपेक्षाओं पर खरा उतरेंगे । बकौल दिनेश शर्मा सेवानिवृत्त लिपिक गाजियाबाद विकास प्राधिकरण यदि हमें माननीय सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा प्रेम सिंह बनाम स्टेट ऑफ यू0पी0 में पारित आदेश के अनुपालन में सरकार की उपेक्षा पूर्ण नीति के विरुद्ध माननीय न्यायालय की शरण भी लेनी पड़ी तो अपने अधिकारों की प्राप्ति के लिए पीछे नहीं हटेंगे तथा सरकार से अपने अधिकार लेकर ही रहेंगे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »