मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पिछले 22 दिनों में 27 हजार कोविड पाॅजिटिव के एक्टिव केस कम होने पर संतोष व्यक्त किया


जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर तथा
वाराणसी में विशेष सतर्कता बरतते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश

लखनऊ | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में पिछले 22 दिनों में 27 हजार कोविड पाॅजिटिव के एक्टिव केस कम होने पर संतोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए बचाव और उपचार के व्यापक प्रबन्ध निरन्तर जारी रखे जाएं। उन्होंने जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर तथा वाराणसी में विशेष सतर्कता बरतते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी कोविड चिकित्सालयों में आवश्यक दवाओं, मेडिकल उपकरण एवं आॅक्सीजन की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। वरिष्ठ चिकित्सकों द्वारा नियमित तौर पर राउण्ड लिया जाए। पैरामेडिक्स द्वारा मरीजों की गहन माॅनिटरिंग की जाए।
मुख्यमंत्री ने जनपद स्तर पर कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को सुचारु बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि शासन स्तर पर मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा द्वारा जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से संवाद स्थापित करते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाए। उन्होंने कम रिकवरी दर वाले जनपदों के जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी से स्थिति की संम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर रिकवरी दर में वृद्धि के लिए सभी प्रबन्ध सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आॅनलाइन ओ0पी0डी0 सेवा ई-संजीवनी का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसके माध्यम से चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर सकें। उन्होंने सर्विलांस, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा मेडिकल टेस्टिंग के कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने 10 से 16 अक्टूबर, 2020 तक प्रदेश में स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन का विशेष अभियान संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि अभियान के दौरान अस्पताल, विद्यालय, कार्यालय सहित सभी सार्वजनिक स्थानों आदि पर साफ-सफाई और सेनिटाइजेशन के विशेष प्रयास किए जाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी द्वारा देश में कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए 01 लाख करोड़ रुपए की धनराशि प्राविधानित की गई है। प्रदेश में कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में व्यापक सम्भावनाएं हैं। उन्होंने खाद्यान्न भण्डारण के लिए गोदामों के निर्माण कार्यों को प्राथमिकता पर पूर्ण किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे कृषकों और कृषि क्षेत्र को लाभ होगा।

इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण एवं बाल विकास श्रीमती एस0 राधा चैहान, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, राहत आयुक्त श्री संजय गोयल, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
——–


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »