प्रदेश एफ0डी0आई0 तथा फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कम्पनियां के लिए नीति लाने वाला देश का पहला राज्य—मुख्यमंत्री योगी


मुख्यमंत्री तथा केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी 4.0 के अन्तर्गत एफ0डी0आई0 कॉन्क्लेव को सम्बोधित किया

प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री के संकल्पों के अनुरूप उ0प्र0 को भारत के
ग्रोथ इंजन के रूप में स्थापित करने की दिशा में प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ रही : मुख्यमंत्री

लखनऊ |     मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के संकल्पों के अनुरूप उत्तर प्रदेश को भारत के ग्रोथ इंजन के रूप में स्थापित करने की दिशा में प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ रही है। यह नए भारत का नया तथा विकसित भारत का विकसित उत्तर प्रदेश है। विगत 6-7 वर्षों में प्रदेश ने अपनी इमेज बदली है। 07 वर्ष पूर्व यह देश का बीमारू राज्य तथा देश के विकास का बैरियर माना जाता था। आज यह बीमारू राज्य की श्रेणी से उबर कर देश के अनलिमिटेड पोटेंशियल युक्त राज्य के रूप में स्थापित हुआ है। प्रदेश सरकार राज्य के विकास के लिए तय किए गए लक्ष्यों को समयबद्ध तरीके से प्राप्त कर रही है।

मुख्यमंत्री जी आज यहां ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी 4.0 के अन्तर्गत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफ0डी0आई0) कॉन्क्लेव में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में प्रकृति, परमात्मा तथा प्रतिभाशाली युवाओं की त्रिवेणी है। राज्य इसके माध्यम से प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन व नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है। विगत 07 वर्षों में प्रदेश की अर्थव्यवस्था तथा प्रति व्यक्ति आय को दोगुना करने में सफलता प्राप्त हुई है। इसके पीछे प्रधानमंत्री का विजन था, जिसे प्रभावी ढंग से, मिशन रूप में अलग-अलग सेक्टर की नीतियां तय कर तथा कानून व्यवस्था की बेहतर स्थिति देकर आगे बढ़ाया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के बदले हुए वातावरण के परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश देश की दूसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। यह रिवेन्यू सरप्लस राज्य के रूप में स्थापित है। प्रदेश एफ0डी0आई0 तथा फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कम्पनियों के लिए नीति लाने वाला देश का पहला राज्य बन चुका है। प्रदेश में वर्ष 2000 से 2017 के बीच कुल 17 वर्षों में जितना एफ0डी0आई0 आया, इसके चार गुना एफ0डी0आई0 वर्ष 2019 से 2023 के बीच मात्र 04 वर्षों में प्राप्त हुआ। सरकार की साफ नीयत, स्पष्ट नीति तथा सुरक्षित वातावरण में निवेशक निवेश के इच्छुक होते हैं। राज्य में आज यह वातावरण  दिखाई दे रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में राज्य में 14 फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कम्पनियां कार्यरत हैं। इनमें सैमसंग, माइक्रोसॉफ्ट, एल0जी0, पेप्सिको, नायरा एनर्जी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा, हिंदुस्तान यूनिलीवर, हायर, आईकिया, ए0आई0 लिक्विडे तथा डेन्सो आदि सम्मिलित हैं। यह कम्पनियां सफलतापूर्वक अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा रही हैं। यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 में 400 बिलियन यू0एस0 डॉलर के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। राज्य निवेश के ड्रीम डेस्टिनेशन के रूप में उभरा है। निवेशकों के सामने उपस्थित चुनौतियों को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार द्वारा तय की गई नीति के अन्तर्गत लैण्ड व कैपिटल सब्सिडी, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन, इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी में छूट प्रदान की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश, देश तथा विश्व के निवेशकों को राज्य में निवेश के लिए आमंत्रित तथा आश्वस्त करते हुए कहा कि वह प्रदेश में सुरक्षित निवेश करें तथा सुविधाओं का लाभ लें। प्रदेश में उनका निवेश पूरी तरह सुरक्षित होगा तथा व्यवसाय का नया आनंद प्रदान करेगा। प्रदेश सरकार निवेशकों के हितों को पूरा संरक्षण देने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने इस दिशा में नया प्रयास प्रारम्भ किया है। पहले निवेशकों की फाइलें शासन व विभागों में फंसी रहती थीं। आज सिंगल विण्डो सुविधा युक्त निवेश मित्र पोर्टल निवेशकों की सुविधा के लिए कार्य कर रहा है। एम0ओ0यू0 मॉनीटरिंग के लिए निवेश सारथी पोर्टल निवेशकों की सेवा में समर्पित है। राज्य में सफलता पूर्वक निवेश करने वाले निवेशकों के लिए इन्सेंटिव मॉनीटरिंग सिस्टम प्रभावी ढंग से कार्य कर रहा है। टेक्नोलॉजी के माध्यम से निवेशकों की समस्या का समाधान करने के लिए इसे और भी अच्छा बनाने का प्रयास किया गया है।

केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन तथा मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में तेज गति से परिवर्तन का अनुभव किया गया है। यह स्वयं में ऐतिहासिक है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में विगत 07 वर्षों में प्रदेश की दशा और दिशा बदली है। प्रदेश में विगत एक वर्ष उपलब्धियों भरा वर्ष रहा है। इसकी शुरुआत यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से हुई थी। अलग-अलग पड़ावों से गुजरते हुए इस विकास यात्रा में प्रधानमंत्री के कर-कमलों द्वारा 22 जनवरी, 2024 को प्रभु श्रीरामलला की अयोध्या नगरी में उनके स्वयं के भव्य मन्दिर में प्राण-प्रतिष्ठा हुई। कल प्रधानमंत्री जी ने 10 लाख करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट्स की ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी की। यह वर्ष उत्तर प्रदेश के लिए ऐतिहासिक होगा।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश का एक-एक व्यक्ति पूरे आत्मविश्वास से प्रदेश के विकास में योगदान दे रहा है। प्रदेश में सुशासन देखने को मिल रहा है। डबल इंजन सरकार तेज गति से विकास तथा गरीब कल्याण को आगे बढ़ा रही है। अब उत्तर प्रदेश रुकने व थमने वाला नहीं है। विश्व में भारत एवं उत्तर प्रदेश की प्रसिद्धि हो रही है। जिस प्रकार विश्व की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाने के लिए पूरा विश्व भारत की तरफ आशा भरी निगाहों से देख रहा है। वैसे ही भारत की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने में अहम योगदान के लिए पूरा भारत उत्तर प्रदेश की तरफ देख रहा है।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि 25 करोड़ प्रदेशवासियों के जीवन को नए उत्साह और उमंग के साथ आगे बढ़ाने के लिए एक पड़ाव के रूप में यह ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी 4.0 लखनऊ में आयोजित की गई है। देश-विदेश में लखनऊ अपनी मेहमान नवाजी तथा चिकनकारी जैसे उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। आज पूरा विश्व लखनऊ के बारे में बात कर रहा है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी एवं केन्द्रीय मंत्री ने यू0पी0 इमर्जिंग डेस्टिनेशन फॉर फॉरेन इन्वेस्टमेन्ट इन इण्डिया पुस्तिका का विमोचन किया।
कार्यक्रम में यू0पी0 इमर्जिंग डेस्टिनेशन फॉर फॉरेन इन्वेस्टमेन्ट इन इण्डिया पर लघु फिल्म प्रदर्शित की गई।
कार्यक्रम में वाइस चेयरमैन शरफ ग्रुप श्री शरफुद्दीन शरफ, सी0एम0डी0 लुलु ग्रुप श्री एम0ए0 यूसुफ अली, एम0डी0 एयर लिक्विड श्री बिनोएट रेनार्ड सहित अन्य निवेशकों ने अपने विचार व्यक्त किए।
इस अवसर पर औद्योगिक विकास मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’, श्रम एवं सेवायोजन मंत्री श्री अनिल राजभर, औद्योगिक विकास राज्य मंत्री श्री जसवन्त सिंह सैनी, मुख्य सचिव श्री दुर्गा शंकर मिश्र, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री अनिल कुमार सागर, सी0ई0ओ0 इन्वेस्ट यू0पी0 श्री अभिषेक प्रकाश सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।


Scroll To Top
Translate »