एसजीपीजीआई के चिकित्सक सेवाभाव के कारण प्रदेश से बाहर नहीं जाते हैं इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं—मुख्य सचिव


मुख्य सचिव द्वारा संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इन्स्टीट्यूट आफ मेडिकल साइन्सेज का भ्रमण किया गया

लखनऊ: मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र द्वारा संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इन्स्टीट्यूट आफ मेडिकल साइन्सेज का भ्रमण किया गया।  अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि मैंने एसजीपीजीआई को अपने सामने बनते हुए देखा है और मुझे बहुत गर्व है कि ऐसे संस्थान के अध्यक्ष के रूप में मुझे कार्य करने का अवसर प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह हमारे प्रदेश का मेडिकल क्षेत्र का गौरव है और सभी मेडिकल काॅलेज चिकित्सा के क्षेत्र में एसजीपीजीआई संस्थान से सम्पर्क करते हैं। पूरे प्रदेश में किसी भी प्रकार की गंभीर से गंभीर बीमारी हो, सभी एसजीपीजीआई से चिकित्सा सम्बन्धी उपचार हेतु सम्पर्क स्थापित करते हैं। उन्होंने संस्थान के चिकित्सकों को बधाई देते हुए कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में एसजीपीजीआई के चिकित्सकों का कोई सानी नहीं है।

उन्होंने कहा कि एसजीपीजीआई के चिकित्सकों को अन्य जगहों से भी अच्छे अवसर प्राप्त होते हैं लेकिन उनके द्वारा प्रदेशवासियों के प्रति सेवाभाव के कारण वह प्रदेश से बाहर नहीं जाते हैं इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं। 

उन्होंने डाॅ0 शेट्टी को बधाई देते हुए कहा कि संस्थान को बढ़ाने में उनका बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहा है, जिससे प्रदेश को एक उत्तम संस्थान चिकित्सा के क्षेत्र में प्राप्त हो सका है। उन्होंने कहा कि रिसर्च के क्षेत्र में संस्थान अनेक ऊचाईयों को प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि संस्थान बिल्डिंग से नहीं बनते हैं न ही उपकरणों बल्कि अच्छे एवं प्रतिभावान लोगों से बनते हैं। उन्होंने कहा कि यदि आप अच्छे से अच्छा उपकरण लगा देते हैं लेकिन आपके पास उसको संचालित करने हेतु एक अच्छा प्रशिक्षित व्यक्ति नहीं है तो वह उपकरण बेकार है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार लगातार संस्थान को उच्चीकृत करने हेतु प्रयासरत है और आगे भी आवश्यकतानुसार अपना सहयोग प्रदान करती रहेगी।  उन्होंने संस्थान के सभी विभागाध्यक्षों से उनका परिचय प्राप्त कर उनके द्वारा चिकित्सा के क्षेत्र में किये गये उल्लेखनीय कार्यों को सराहा। 

उक्त कार्यक्रम में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार, विशेष सचिव चिकित्सा शिक्षा श्रीमती शुभ्रा सक्सेना, निदेशक एसजीपीजीआई प्रो0 आर0के0 धीमन, संस्थान के डीन प्रो0 अनीश श्रीवास्तव सहित अन्य चिकित्सगण आदि उपस्थित थे। , ———–


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »