यूपीसीडा ने यूपी के पूर्वांचल में भारत की सबसे बड़ी कोका कोला बॉटलर, SLMG बेवरेजेज, 700 करोड़ रुपये की मेगा यूनिट को किया आकर्षित


उत्तर प्रदेश सरकार की फास्ट ट्रैक नीति के तहत SLMG बेवरेजेस को 34.48 एकड़ भूमि आवंटित की गई है, जो सरकार की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस पहल की प्रभावशीलता को दर्शाती है : सीईओ मयूर माहेश्वरी


लखनऊ | मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ के दूरदर्शी नेतृत्व में, राज्य भर में औद्योगिक परिवेश में कई सकारात्मक परिवर्तनों तथा अभूतपूर्व गति से औद्योगिक विकास के साथ उत्तर प्रदेश एक सशक्त प्रदेश के रूप में उभरा है। यूपीसीडा के ठोस प्रयासों ने पूर्व में देवरिया से लेकर पश्चिम में सहारनपुर, उत्तर में पीलीभीत से लेकर दक्षिण में चित्रकूट तक पूरे राज्य में कंपनियों को अपनी इकाइयां स्थापित करने में मदद की है।

यूपीएसआईडीए के सीईओ श्री मयूर माहेश्वरी ने बताया कि पिछले 5 वर्षों में कई मेगा परियोजनाएं जैसे एबी मौरी, पीलीभीत (1100 करोड़ निवेश और 5 हजार रोज़गार), एसीसी लिमिटेड, अमेठी (50 करोड़ निवेश और 200 रोज़गार), बर्जर पेंट्स इंडिया लिमिटेड, हरदोई (850 करोड़ निवेश और 1100 रोजगार), वरुण बेवरेज लिमिटेड, हरदोई (850 करोड़ निवेश और 560 रोजगार), शैलविस स्पेशलिटीज लिमिटेड, हमीरपुर (250 करोड़ निवेश और 1500 रोजगार) और ऐसी कई अन्य इकाइयों ने अपनी इकाइयां स्थापित की हैं या स्थापित की जा रही हैं। ये निवेश राज्य के सभी चार क्षेत्रों – पूर्वांचल, मध्यांचल, पश्चिमांचल और बुंदेलखंड में स्थित हैं।
अपनी उपलब्धियों में एक और महत्वपूर्ण उपलब्धी जोड़ते हुए, यूपीसीडा द्वारा एक और मेगा प्रोजेक्ट, मैसर्स SLMG बेवरेजेस को पूर्वांचल में त्रिशुंडी औद्योगिक क्षेत्र, अमेठी में फलों के जूस विनिर्माण संयंत्र की स्थापना करने में सहयोग किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार की फास्ट ट्रैक नीति के तहत SLMG बेवरेजेस को 34.48 एकड़ भूमि आवंटित की गई है, जो सरकार की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस पहल की प्रभावशीलता को दर्शाती है।
भारत में कोका कोला के सबसे बड़ी बॉटलर के रूप में, SLMG बेवरेजेज, कोका कोला के साथ 30 से अधिक वर्षों से जुड़ी हुई है। राज्य भर में फैले अपने 7 अत्याधुनिक विनिर्माण संयंत्रों के साथ उत्तर प्रदेश, कंपनी का पसंदीदा गंतव्य रहा है। मेसर्स SLMG बेवरेजेज द्वारा, इस परियोजना में 700 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करने और क्षेत्र के लगभग 650 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार प्रदान करने का प्रस्ताव है। त्रिशुंडी संयंत्र में पेय पदार्थों को बोतलों में पैक करने का कार्य एकीकृत/अत्याधुनिक विधियों पर आधारित ASAP तकनीक और पूर्णतः स्वचालित बॉटलिंग प्लांट का उपयोग करके किया जाएगा।
यूपीसीडा का औद्योगिक क्षेत्र त्रिशुंडी, जिला अमेठी में है। त्रिशुंडी में इस नई इकाई की स्थापना से पूर्वांचल के साथ-साथ बुंदेलखंड क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे, जिससे स्थानीय लोगों को बहुत लाभ होगा।
यूपीएसआईडीए के सीईओ श्री मयूर माहेश्वरी ने बताया कि “मैसर्स SLMG बेवरेजेज प्राइवेट लिमिटेड के लिए 34.48 एकड़ का टेलर-मेड प्लॉट तैयार करना और फिर उसे 17 दिनों के कम समय में आबटित करना, इस तथ्य का प्रत्यक्ष प्रमाण है कि यूपीसीडा, उत्तर प्रदेश में अपनी इकाई लगाने के इच्छुक कंपनियों का स्वागत करने के लिए प्रतिबद्ध है और यूपी को सबसे पसंदीदा निवेश गंतव्य बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किए गए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस सुधारों को भी प्रतिध्वनित करता है।”


Scroll To Top
Translate »