अपर मुख्य सचिव डा0 नवनीत सहगल ने अपने हाथों से जिगर-जाली पर बनाया मिट्टी का कप, प्लास्टर आफ पेरिस के मोल्ड से मिट्टी के दिये को दिया आकार


डा0 नवनीत सहगल पहंुचे माटीकला मेले में, साथ में श्रीमती वंदना सहगल भी रहीं मौजूद

माटीकला मेले में अब तक 20 लाख रुपये से अधिक मूल्य के उत्पादों की बिक्री

आजमगढ़ की ब्लैक पॉटरी मेले में आकर्षण का केन्द्र

लखनऊ | अपर मुख्य सचिव, खादी एवं ग्रामोद्योग डा0 नवनीत सहगल आज गोमती नगर स्थित उ0प्र0 संगीत नाटक अकादमी परिसर में आयोजित 10 दिवसीय माटीकला मेले में पहुंचे। उन्होंने कारीगरों का उत्साहवर्धन करते हुए अपने हाथ से जिगर-जाली पर मिट्टी का कप बनाया। साथ ही प्लास्टर आफ पेरिस के मोल्ड से मिट्टी के दिये को आकार भी दिया। इस मौके पर श्रीमती वंदना सहगल भी मौजूद थीं।

अपर मुख्य सचिव ने बताया मिट्टी कारीगरों के व्यवसाय को बड़ा करोबारा बनाने के उद्देश्य माटीकला बोर्ड का गठन मील का पत्थर साबित हो रहा है। प्रदर्शनी के माध्यम से हस्तशिल्पियों को एक स्थल पर बड़ा बाजार उपलब्ध कराने की योजना सफल साबित हुई है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी लखनऊवासियांे को माटीकला मेला खूब पसंद आ रहा है। इसका परिणाम यह है मेले में विगत पांच दिवसों 15 लाख रुपये से अधिक उत्पादों की बिक्री हो चुकी थी। आज लगभग पांच लाख रुपये मूल्य के उत्पादांे की बिक्री हुई है। इस प्रकार अब तक माटीकला मेले में 20 लाख रुपये से अधिक मूल्य के उत्पादों की बिक्री हो चुकी है।

डा0 सहगल ने बताया कि माटीकला मेले में श्री लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति, विभिन्न प्रकार के डिजाइनर दिये, चुनार की पॉटरी, आजमगढ़ की ब्लैक पॉटरी आकर्षण का केन्द्र हैं। गोरखपुर का टेराकोटा उत्पाद फाउंटेन आगंतुकों को खूब पसंद आ रहा है। खुर्जा के चीनी मिट्टी की क्राकरी एवं बोन साइट प्लांटर की जमकर खरीददारी हो रही है। उन्होंने बताया कि मेले में जनपद मीरजापुर, आजमगढ़, उन्नाव, लखनऊ, अयोध्या, कानपुर, गोरखपुर, बुलन्दशहर एवं प्रयागराज सहित विभिन्न जिलों के शिल्पकारों द्वारा मिट्टी से बने उत्पादों का प्रदर्शन एवं बिक्री की जा रही है। यह प्रदर्शनी आगामी 03 नवम्बर से चलेगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »