प्रत्येक जनपद में चिकित्सा कर्मियों, कोविड बेड, दवाओं, मेडिकल उपकरणों तथा ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता हमेशा बनी रहे— मुख्यमंत्री


लखनऊ के के0जी0एम0यू0 तथा बलरामपुर चिकित्सालयको डेडीकेटेड कोविड चिकित्सालय बनाने के निर्देश

एरा मेडिकल काॅलेज, टी0एस0 मिश्रा मेडिकल काॅलेज,इण्टीग्रल मेडिकल काॅलेज, मेयो मेडिकल काॅलेज तथा हिन्द मेडिकलकाॅलेज को पूरी तरह डेडीकेटेड कोविड हाॅस्पिटल घोषित करें

लखनऊ | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड मरीजों के बेहतर उपचार की सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद में चिकित्सा कर्मियों, कोविड बेड, दवाओं, मेडिकल उपकरणों तथा ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता हमेशा बनी रहे। उन्होंने एम्बुलेंस सेवाओं का सुचारु संचालन सुनिश्चित कराने के निर्देश भी दिये।
मुख्यमंत्री आज वर्चुअल माध्यम से आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घण्टे में लखनऊ में 1,121 अतिरिक्त कोविड बेड उपलब्ध हो गये हैं। बेडों की संख्या में तेजी से वृद्धि करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि लखनऊ के के0जी0एम0यू0 तथा बलरामपुर चिकित्सालय को डेडीकेटेड कोविड चिकित्सालय बनाया जाए। उन्होंने एरा मेडिकल काॅलेज, टी0एस0 मिश्रा मेडिकल काॅलेज, इण्टीग्रल मेडिकल काॅलेज, मेयो मेडिकल काॅलेज तथा हिन्द मेडिकल काॅलेज को पूरी तरह डेडीकेटेड कोविड हाॅस्पिटल घोषित करने के निर्देश दिये। उन्होंने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य, लखनऊ के नोडल अधिकारी अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास तथा प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा को बेड तथा एम्बुलेंस की संख्या में वृद्धि करने के लिए कारगर रणनीति तैयार करने के लिए निर्देशित किया है।
मुख्यमंत्री ने 2,000 से अधिक ऐक्टिव कोरोना केस वाले 10 जनपदों-लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर नगर, वाराणसी, गौतमबुद्धनगर, गोरखपुर, मेरठ, बरेली, झांसी तथा बलिया में तत्काल प्रभाव से कोरोना कफ्र्यू की अवधि को बढ़ाकर रात्रि 08 बजे से सुबह 07 बजे तक किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई चेन कार्यरत रहेगी। उन्होंने इन जनपदों की चिकित्सा व्यवस्था को और सुदृढ़ करने के निर्देश भी दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जनपदों के कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की अनवरत आपूर्ति बनी रहे। मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाले टैंकरों का मूवमेंट ट्रैक करते हुए यह सुनिश्चित कराया जाए कि ऑक्सीजन प्लाण्ट से गन्तव्य स्थल तक इन वाहनों का मूवमेंट कहीं भी बाधित न हो। इसके लिए परिवहन विभाग तथा पुलिस विभाग का भी आवश्यक सहयोग प्राप्त किया जाए। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा मेडिकल ऑक्सीजन की सुचारु आपूर्ति के सम्बन्ध में एक कण्ट्रोल रूम स्थापित किया जाए। इससे ऑक्सीजन की अनवरत उपलब्धता सुनिश्चित कराने में सुविधा होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड मरीजों के उपचार में इस्तेमाल की जाने वाली रेमडेसिविर सहित अन्य सभी दवाओं की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। राज्य सरकार के विशेष प्रयासों से अहमदाबाद से रेमडेसिविर इंजेक्शन की अतिरिक्त डोज प्राप्त हो गयी है। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के कण्ट्रोल रूम द्वारा रेमडेसिविर की जनपदवार उपलब्धता एवं आपूर्ति के सम्बन्ध में नियमित संवाद व सम्पर्क रखा जाए। उन्होंने निर्देशित किया कि ऑक्सीजन तथा रेमडेसिविर के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री कार्यालय तथा मुख्य सचिव कार्यालय द्वारा निरन्तर समीक्षा की जाए।
मुख्यमंत्री ने माध्यमिक शिक्षा परिषद की वर्ष 2021 की हाईस्कूल तथा इण्टरमीडिएट परीक्षाओं को 20 मई, 2021 तक स्थगित किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि आगामी मई माह के प्रथम सप्ताह में स्थिति की समीक्षा करते हुए अग्रेतर निर्णय के सम्बन्ध में विचार किया जाएगा। उन्होंने सभी शिक्षण संस्थानों को 15 मई, 2021 तक बन्द रखने तथा इस अवधि में परीक्षाओं का आयोजन स्थगित किये जाने के निर्देश भी दिये हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 की टेस्टिंग की संख्या में निरन्तर वृद्धि की जाए। आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट की संख्या को बढ़ाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि निजी लैब भी अपनी टेस्टिंग क्षमता का विस्तार करें। उन्होंने जनपदों में स्थापित इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को सुचारु ढंग से संचालित करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से बचाव के सम्बन्ध में व्यापक जागरूकता का कार्यक्रम संचालित किया जाए। इसके लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम का प्रभावी उपयोग किया जाए। इलेक्ट्राॅनिक मीडिया के माध्यम से लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क के अनिवार्य उपयोग सहित कोविड प्रोटोकाॅल के बारे में जागरूक किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि पंचायत निर्वाचन ड्यूटी से जुड़े सभी कर्मी मास्क तथा ग्लव्स का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। सभी दुकानदार, व्यापारी, फल व सब्जी विक्रेता सहित सामान का आदान-प्रदान करने वाले सभी लोग अनिवार्य रूप से मास्क और ग्लव्स का इस्तेमाल करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में निरन्तर स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा फाॅगिंग का कार्य करें। निगरानी समितियों को पूरी सक्रियता से संचालित करें। कण्टेनमेण्ट जोन के प्राविधानों को सख्ती से लागू किया जाए। सरकारी तथा निजी कार्यालयों एवं औद्योगिक प्रतिष्ठानों में कोविड हेल्प डेस्क संचालित रहनी चाहिए। उन्होंने औद्योगिक इकाइयों में कोविड प्रोटोकाॅल का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जनपदों में क्वारण्टीन सेण्टर संचालित किये जाएं। क्वारण्टीन सेण्टर में लोगों की स्क्रीनिंग, लक्षण के आधार पर कोविड जांच की व्यवस्था के साथ-साथ उनके लिए ठहरने व भोजन आदि का प्रबन्ध किया जाए। सभी जनपदों में क्वारण्टीन सेण्टर क्रियाशील किये जाने के सम्बन्ध में आज शाम तक रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिये।
बैठक में उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह एवं वरिष्ठ अधिकारीगण वर्चुअल माध्यम से सम्मिलित हुए।
———


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top