सिंगापुर की तर्ज पर अलीगढ़ में फ्लैटेड फैक्ट्री काॅम्पलेक्स की होगी स्थापना—अपर मुख्य सचिव डा0 नवनीत सहगल



90 करोड़ की लागत से 13400 स्क्वायर मीटर क्षेत्र में स्थापित होगी फ्लैटेड फैक्ट्री

lucknow| उत्तर प्रदेश सरकार ताले एवं हार्डवेयर के लिए प्रसिद्ध जनपद अलीगढ़ में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों को बड़ी सौगात देने जा रही है। अलीगढ़ में सिंगापुर की तर्ज पर एमएसएमई के लिए फ्लैटेड फैक्ट्री काॅम्पलेक्स की स्थापना कराई जायेगी। इसके लिए 13400 स्क्वायर मीटर (1.34 हेक्टेयर) क्षेत्र में 90 करोड़ रुपये की लागत से इसकी स्थापना होगी। फ्लैटेड फैक्ट्री काॅम्पलेक्स का पूरा खाका भी तैयार कराया जा चुका है।
यह जानकारी अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम डा0 नवनीत सहगल ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि सिंगापुर देश फ्लैटेड फैक्ट्री मामले में विश्व का सबसे अच्छा माडल है। इसी तर्ज पर अलीगढ़ में फ्लैटेड फैक्ट्री काॅम्पलेक्स की स्थापना का निर्णय लिया गया है। प्रस्तावित फ्लैटेड फैक्ट्री काॅम्पलेक्स में तीन टावर होंगे। ब्लाक-ए पांच फ्लोर, ब्लाक-बी सात फ्लोर तथा ब्लाक-सी दो फ्लोर का होगा।
फ्लैटेड फैक्ट्री क्षेत्र में चैड़ी रोड के साथ ड्रेनेज सिस्टम, पानी के निकासी एवं विद्युत की बेहतर व्यवस्था होगी। फैक्ट्री में काम करने वाले श्रमिकों के लिए बहुमंजिला आवास होंगे। कामन ट्रीटमेंट प्लांट, मीटिंग हाल, कैफेटेरिया, मैटेरियल लिफ्ट, ट्रकों के पार्किंग समुचित प्रबंध होगा। कैम्पस के बाहर बस ड्राप स्थल होगा। कैम्पस का 50 प्रतिशत ओपेन एरिया होगा, जिसमें हर तरफ हरियाली होगी।
डा0 नवनीत सहगल ने बताया कि उद्यमियों की सुविधा के दृष्टिगत रखते हुए प्रथम चरण में 04 जनपदों लखनऊ, कानपुर, गाजियाबाद तथा आगरा में फ्लैटेड फैक्ट्री की स्थापना कराई जा रही है। आगरा में फाउण्ड्री नगर, कानपुर नगर में दादा नगर, लखनऊ में स्कूटर इण्डिया एन्सिलरी ईस्टेट नादरगंज तथा गाजियाबाद में फ्लैटेड फैक्ट्री के विकास का निर्णय लिया जा चुका है।
अपर मुख्य सचिव ने बताया कि अलीगढ़ व्यापार की दृष्टि से प्रदेश का महत्वपूर्ण बिजनेस संेटर है और देश में इसकी पहचान सिटी आॅफ लाॅक्स के रूप में है। अलीगढ़ में बने ताले पूरे देश में प्रसिद्ध हैं। फ्लैटेड फैक्ट्री काम्पलेक्स की स्थापना से यहां के कारोबारियों को एक स्थान पर व्यापार से जुड़ी तमाम प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध होंगी। खरीददार आसानी से उद्यमों तक पहुंच सकेंगे और जनपद से निर्यात में भी वृद्धि होगी। इससे अलीगढ़ की एमएसएमई का चैमुखी विकास भी होगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top