प्रदूषण का प्रकोप : नोएडा-गाजियाबाद में AQI बेहद खराब, NPCL और नौ बिल्डरों पर जुर्माना


नोएडा। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) के शहर गाजियाबाद, फरीदाबाद और गौतमबुद्ध नगर में मंगलवार सुबह वायु गुणवत्ता बेहद खराब रही और प्रदूषित हवा के कारण लोगों को सांस लेने में परेशानी एवं आंखों में जलन की शिकायत हुई।नोएडा क्षेत्रीय प्रदूषण अधिकारी प्रवीण कुमार ने बताया कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) गौतमबुद्ध नगर जिले में 351, फरीदाबाद में 318 और गाजियाबाद में 330 और दिल्ली में 332 दर्ज किया गया। बल्लभगढ़ में एक्यूआई 342, बागपत में 304, बहादुरगढ़ में 332 और गुरुग्राम में 327 दर्ज किया गया। बुलंदशहर में एक्यूआई 351 दर्ज किया गया।

उन्होंने बताया कि वायु प्रदूषण को रोकने के लिए प्रदूषण विभाग, गौतमबुद्ध नगर प्रशासन तथा नोएडा प्राधिकरण लगातार काम कर रहा है और प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ एक विशेष अभियान के तहत ग्रेटर नोएडा में नौ बिल्डरों, एक आईटी कंपनी तथा विभिन्न जगहों पर नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की गई। ग्रेटर नोएडा में वायु प्रदूषण फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कुल एक करोड़ आठ लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया।

पुलिस आयुक्त के प्रवक्ता ने बताया कि नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा में कूड़ा तथा पराली जलाने वालों लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। 

उल्लेखनीय है कि शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।

रेटर नोएडा प्राधिकरण ने प्रदूषण की रोकथाम संबंधी चरणबद्ध प्रतिक्रिया कार्रवाई योजना (ग्रैप) का पालन नहीं करने पर नौ बिल्डरों, एक आईटी कंपनी और नोएडा पॉवर कंपनी लिमिटेड (एनपीसीएल) पर जुर्माना लगाया है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नरेंद्र भूषण ने नौ विभिन्न बिल्डरों एवं डेवलपरों पर 45 लाख रुपये, एक आईटी/आईटीएस कंपनी पर 50 लाख रुपये तथा एनपीसीएल पर दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया।

नरेंद्र भूषण ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निरीक्षण के दौरान राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के निर्देशों के तहत प्रदूषण की रोकथाम के लिए ग्रैप का कड़ाई से अनुपालन कराने के भी निर्देश दिए। अधिकारी ने बताया कि उन्होंने शारदा विश्वविद्यालय और बालक इंटर कॉलेज का भी निरीक्षण किया। 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »