मण्डलायुक्त स्मार्ट सिटी योजना के कार्यों का सघन पर्यवेक्षण करें तथा माहवार निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति सुनिश्चित करायें—मुख्य सचिव


मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक आयोजित
मुख्य सचिव ने की स्मार्ट सिटी योजना, अमृत योजना, नमामि गंगे योजना तथा मेट्रो परियोजनाओं की प्रगति समीक्षा 

निर्धारित लक्ष्य से कम प्रगति से सम्बन्धित अधिकारियों का स्पष्टीकरण प्राप्त कर उत्तरदायित्व निर्धारित किया जाये


लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक में स्मार्ट सिटी योजना, अमृत योजना, नमामि गंगे योजना तथा मेट्रो परियोजनाओं की अद्यतन प्रगति की समीक्षा की गयी।  अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने स्मार्ट सिटी योजना में निर्धारित लक्ष्य से कम प्रगति वाले नगर निगमों के उत्तरदायी अधिकारियों का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सम्बन्धित मण्डलायुक्त स्मार्ट सिटी योजना के कार्यों का सघन पर्यवेक्षण करें तथा माहवार निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति सुनिश्चित करायें। उन्होंने माह अक्टूबर, 2021 के लिए निर्धारित लक्ष्य से कम प्रगति वाले नगर निगम सहारनपुर, मुरादाबाद एवं बरेली के उत्तरदायी अधिकारियों का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि सभी नगर निगम नवम्बर, 2021 के लिए निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति प्रत्येक दशा में सुनिश्चित करायें।  इससे पूर्व बैठक में प्रजेन्टेशन के माध्यम से अवगत कराया गया कि स्मार्ट सिटी योजना में माह अक्टूबर, 2021 तक 9373 करोड़ रुपये की लागत की 498 परियोजनायें स्वीकृत की गई हैं, जिनमें से 8398 करोड़ की 448 परियोजनाओं की डीपीआर अनुमोदित, 7414 करोड़ रुपये की 384 परियोजनाओं की निविदा स्वीकृत, 6594 करोड़ रुपये की 357 परियोजनाओं के लिए कार्यादेश निर्गत किये जा चुके हैं, जिनमें से 1925 करोड़ रुपये लागत की 149 परियोजनाएं पूर्ण तथा 4669 करोड़ रुपये लागत की 207 परियोजनाओं पर तीव्र गति से काम चल रहा है। माह अक्टूबर, 2021 में 07 डीपीआर एवं 14 टेण्डर अनुमोदित किये गये हैं, 06 में वर्क आर्डर जारी तथा 04 परियोजनायें पूर्ण की गई हैं।

बैठक में यह भी बताया गया कि अवशेष परियोजनाओं के लिए वर्क आर्डर 31 दिसम्बर, 2021 तक अवश्य जारी कर दिये जायेंगे।  लखनऊ स्मार्ट सिटी की 930.10 करोड़ रुपये लागत की सभी 52 परियोजनाओं की डीपीआर स्वीकृत, 43 के टेण्डर अनुमोदित तथा सभी के लिए वर्क आर्डर जारी किये जा चुके हैं, जिनमें से 21 परियोजनाएं पूरी कर ली गई हैं। शेष परियोजनाओं के वर्क आर्डर 31 दिसम्बर, 2021 तक अवश्य जारी कर दिये जायेंगे । कानपुर स्मार्ट सिटी की 52 परियोजनायें स्वीकृत, 37 की डीपीआर तथा 35 के टेण्डर अनुमोदित व सभी के वर्क आर्डर जारी, 15 का कार्य पूरा व 20 पर कार्य गतिमान है। आगरा स्मार्ट सिटी की सभी 19 परियोजनाएं स्वीकृत, डीपीआर अनुमोेदित, टेण्डर अनुमोदित, सभी के वर्क आर्डर जारी तथा 352.70 करोड़ की 14 परियोजनाएं पूर्ण व 641.20 करोड़ रुपये की लागत की 05 परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर है।  वाराणसी स्मार्ट सिटी सभी 52 की डीपीआर स्वीकृत, 49 के टेण्डर अनुमोदित व सभी के वर्क आर्डर जारी, 36 प्रोजेक्ट पूर्ण तथा 18 के कार्य प्रगति पर है। प्रयागराज स्मार्ट सिटी सभी 81 प्रोजेक्ट की डीपीआर अनुमोदित, 68 के टेण्डर अनुमोदित, 67 के कार्यादेश जारी, 26 पूर्ण तथा 41 परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर है। अलीगढ़ स्मार्ट सिटी 42 प्रोजेक्ट स्वीकृत, 35 की डीपीआर व टेण्डर अनुमोदित, 24 का कार्यादेश जारी, 13 परियोजनाएं पूर्ण तथा 11 का कार्य प्रगति पर है। स्मार्ट सिटी झाँसी 57 प्रोजेक्ट स्वीकृत 55 की डीपीआर अनुमोदित, 49 के टेण्डर अनुमोदित, 38 का वर्क आर्डर जारी, 09 कम्प्लीट तथा 29 का कार्य प्रगति पर है।  बरेली स्मार्ट सिटी सभी 62 प्रोजेक्ट की डीपीआर अनुमोदित, 49 के टेण्डर स्वीकृत व वर्क आर्डर जारी, 15 कम्प्लीट तथा 33 का कार्य प्रगति पर है। सहारनपुर स्मार्ट सिटी 45 में 18 की डीपीआर अनुमोदित, 14 के टेण्डर स्वीकृत व कार्यादेश जारी, 03 कम्प्लीट तथा 11 के कार्य प्रगति पर बताया गया। मुरादाबाद स्मार्ट सिटी 36 में 31 की डीपीआर स्वीकृत, 23 के टेण्डर अनुमोदित, 20 के वर्क आर्डर जारी, 03 कम्प्लीट तथा 17 परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर होना बताया गया।

अमृत योजना की समीक्षा में बताया गया कि 12475.32 करोड़ रुपये की सभी 289 परियोजनाओं की डीपीआर स्वीकृत की जा चुकी है, 12046.89 करोड़ रुपये लागत की 286 के शासनादेश निर्गत हो गये हैं, 277 के टेण्डर अनुमोदित किये जा चुके हैं, 146 प्रोजेक्ट पूरे हो गये हैं, 131 की परियोजनाएं लागत 9233.44 करोड़ रुपये में कार्य प्रगति पर है जिनमें से 59 परियोजनाएं लागत 3198.10 करोड़ रुपये माह दिसम्बर, 2021 तक पूरे हो जायेंगे।  नमामि गंगे कार्यक्रम के अन्तर्गत सीवरेज की स्वीकृत 46 परियोजनाअें में से 22 पूर्ण, 20 में कार्य प्रगति पर तथा 04 को टेण्डर प्रक्रिया में होना बताया गया। स्वीकृत 46 परियोजनाओं की लागत 10494.40 करोड़ रुपये से 1363.01 एमएलडी एसटीपी क्षमता तथा सीवर नेटवर्क की लम्बाई 1690 किमी बताया गया। 22 पूर्ण परियोजनाओं में एसटीपी क्षमता 407.91 एमएलडी, सीवरेज रीचिंग 367.511 एमएलडी तथा सभी वर्तमान में क्रियाशील होना बताया गया। 

मेट्रो परियोजना की समीक्षा में बताया गया कि कानपुर मेट्रो का ट्रायल रन विगत 10 नवम्बर, 2021 से चल रहा है। आगरा मेट्रो का कार्य भी तेजी से चल रहा है।  बैठक में अपर मुख्य सचिव नगर विकास, डॉ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव नमामि गंगे अनुराग श्रीवास्तव सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारीगण तथा वीडियोकान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सम्बन्धित मण्डलायुक्त एवं नगर आयुक्त व अन्य अधिकारीगण आदि उपस्थित थे। 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Translate »