गोमती रिवर फ्रंट व जनेश्वर मिश्र पार्क में पेड़-पौधों की सिंचाई संतोषजनक न मिलने पर उपाध्यक्ष ने अफसरों-ठेकेदारों को लगायी फटकार, एक सप्ताह में व्यवस्था दुरूस्त करने का दिया अल्टीमेटम


बसंतकुंज योजना में वन सेक्टर-वन थीम के आधार पर लगाये जाएंगे आकर्षक पौधे

अब हर महीने होगा हाॅर्टीकल्चर के कार्यों का सत्यापन, दिनांक-11.05.2023 से सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक खुलेंगे पार्क

लखनऊ | लखनऊ विकास प्राधिकरण अपनी बसंतकुंज योजना में वन सेक्टर-वन थीम के आधार पर हाॅर्टीकल्चर वर्क करायेगा। इसके तहत प्रत्येक सेक्टर में 45 मीटर चैड़ी सड़क के मीडियन, फुटपाथ, पार्कों व भूखण्डों के सामने आकर्षक पौधे लगाये जाएंगे। प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डाॅ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी ने मंगलवार को औद्यानिकीकरण के कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को इस बाबत निर्देश दिये हैं।

 उपाध्यक्ष डाॅ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी ने बैठक में कहा कि बसंतकुंज योजना में चार सेक्टर हैं। इसमें वृक्षारोपण के लिए सेक्टर वार पौधों का चयन कर लिया जाए। उपाध्यक्ष ने कहा कि इसमें प्लूमेरिया, अमलताश, गुलमोहर, नीम, सीता अशोक, बोगन बेला, पीपल आदि प्रजातियों को तरजीह दी जाए। उन्होंने कहा कि सीजी सिटी के सारे ट्री-गार्ड्स को वहां से शिफ्ट करके बसंतकुंज योजना में लगाये जाने वाले पौधों की सुरक्षा में इस्तेमाल किया जाए। उपाध्यक्ष ने कहा कि एन0बी0आर0आई के विशेषज्ञों द्वारा प्राधिकरण में तैनात मालियों को दस दिवसीय प्रशिक्षण दिलाया जाए, जिसमें मियावाॅकी प्लान्टेशन तकनीकी की जानकारी भी दिलायी जाए। 

 बैठक में उपाध्यक्ष डाॅ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी ने गोमती रिवर फ्रंट व जनेश्वर मिश्र पार्क में पेड़-पौधों की सिंचाई व्यवस्था संतोषजनक न मिलने पर अफसरों व ठेकेदारों को फटकार लगाते हुए एक सप्ताह में व्यवस्था दुरूस्त करने का अल्टीमेटम दिया है। उपाध्यक्ष ने कहा वह 20 मई को स्वयं स्थल निरीक्षण करके स्थिति का मुआयना करेंगे। इस दौरान खामी मिलने पर सम्बंधित ठेकेदार पर जुर्माना लगाया जाएगा, साथ ही सम्बंधित अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। 

अब हर महीने होगा हाॅर्टीकल्चर कार्यों का सत्यापन
समीक्षा बैठक में पाया गया कि वर्तमान में हाॅर्टीकल्चर का कार्य करने वाले ठेकेदारों द्वारा भुगतान के लिए वर्ष में एक बार बिल लगाया जाता है और उसी समय कार्यों का सत्यापन किया जाता है। इस पर उपाध्यक्ष ने इस व्यवस्था को तत्काल बदलने के निर्देश देते हुए कहा कि अब से प्रत्येक माह हाॅर्टीकल्चर के कार्यों का सत्यापन कराया जाए और इसमें कार्य संतोषजनक न मिलने पर सम्बंधित ठेकेदार पर जुर्माना लगाया जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि हाॅर्टीकल्चर के कार्यों के सम्बंध में एक व्हाट्स ग्रुप बना लिया जाए और इसमें सम्बंधित अधिकारियों के साथ ठेकेदारों को जोड़ा जाए। ठेकेदारों द्वारा स्थल पर प्रतिदिन किये जाने वाले कार्यों की फोटो व डिटेल इस ग्रुप पर निरंतर प्रस्तुत की जाए, जिससे कि माॅनिटरिंग के साथ ही समयबद्ध तरीके से कार्यों का निस्तारण सुनिश्ति कराया जा सके।

सुबह 5 से रात 9 बजे खुलेंगे पार्क
जनेश्वर मिश्र पार्क व राम मनोहर लोहिया पार्क में सुबह 6 बजे तक अनावश्यक रूप से लाइटें जलने पर उपाध्यक्ष ने नाराजगी जताते हुए व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिये। उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रत्येक दशा में सुबह 4ः00 बजे और रात में 9ः30 बजे तक लाइटें बंद कर दी जाएं। उन्होंने निर्देश दिये कि दिनांक-11.05.2023 से पार्कों को सुबह 5ः00 बजे से रात 9ः00 बजे तक खोला जाए। बैठक में अपर सचिव ज्ञानेन्द्र वर्मा, विशेष कार्याधिकारी प्रिया सिंह, अधीक्षण अभियंता ए0के0 सिंह, नगर नियोजक के0के0 गौतम, अधिशासी अभियंता संजीव गुप्ता एवं मनोज सागर एवं राजकुमार, सहायक अभियंता भगत सिंह व सहायक उद्यान अधिकारी कर्ण सिंह समेत अन्य अधिकारी व ठेकेदार उपस्थित रहे।


Scroll To Top
Translate »